अलीगढ : अलीगढ. मुस्लिम विश्वविद्यालय छात्र संघ ने भारतीय जनता पार्टी के लोकसभा सांसद सतीश गौतम पर विश्वविद्यालय की छवि धूमिल करने का प्रयास करने के आरोप लगाये हैं. एएमयू के छात्र, सांसद गौतम के बुधवार को जारी किये गये उस बयान से नाराज है जिसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि एएमयू प्रशासन संस्थान को तालिबानी तरीके से चला रहा है.

भाजपा सांसद ने एएमयू कुलपति को भेजे गये पत्र में आरोप लगाया था कि हाल ही में एक कार्यक्रम में भारत के नक्शे के साथ की गई छेड़छाड़ से यह साबित होता है कि विश्वविद्यालय भारत विरोधियों को पैदा कर रहा है. उन्होंने आरोप लगाया कि अगर विश्वविद्यालय प्रशासन ने एएमयू छात्र मन्नान वानी की मौत के बाद शोकसभा आयोजित करने का प्रयास करने वाले कश्मीरी छात्रों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की होती तो यह घटना न होती. मन्नान विश्वविदयालय की पढ़ाई छोड़कर आतंकी संगठन में शामिल हो गया था. बाद में सुरक्षा बलों ने उसे मार गिराया था.

एएमयू छात्र संघ सचिव हुजैफा आमिर ने गुरुवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा कि गौतम को अपना दिल टटोलना चाहिये और देखना चाहिये कि वास्तव में तालिबानी एजेंडा कौन अपना रहा है. उन्होंने बताया कि छात्रसंघ की तरफ से इस बारे में सतीश गौतम की शिकायत करते हुये राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को एक पत्र लिखा गया है जिसमें कहा गया है कि अपने राजनीतिक फायदे के लिये गौतम सांप्रदायिकता फैला कर देश का माहौल खराब कर रहे हैं.

‘राम जन्मभूमि’ पर बनी फ़िल्म रिलीज नहीं करने के लिए वसीम रिजवी को मिली धमकी

आमिर ने कहा कि राष्ट्रपति से यह भी कहा गया है कि इस ऐतिहासिक विश्वविद्यालय की छवि बिगाड़ने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाए. इस बीच विश्वविद्यालय के प्रवक्ता शाफे किदवाई ने कहा कि भारत का गलत नक्शा छापने के मामले में जांच की जा रही है, जिसकी रिपोर्ट जल्‍दी आने की संभावना है.

होटल में रुके बॉयफ्रेंड का गर्लफ्रेंड से हुआ झगड़ा, कमरे में ही गोली मार खुद फांसी पर लटका

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ड्रामा क्लब द्वारा असगर वजाहत के एक नाटक के प्रचार पोस्टर में भारत के नक्शे से जम्मू कश्मीर को हटाकर पोस्टर लगाये गये थे. इन पोस्टरों को आपत्ति के बाद तुरंत हटा दिया गया था और नाटक के शो को भी रद्द कर दिया गया था.