ग्वालियर: मध्य प्रदेश के ग्वालियर के पास आंध्र प्रदेश एक्सप्रेस बर्निंग ट्रेन बन गई. इस ट्रेन के दो एसी कोच जलकर ख़ाक हो गए. जिस ट्रेन में हादसा हुआ उसमें 37 डिप्टी कलक्टर भी सवार थे. सूचना पर आम यात्रियों के साथ ही इन्हें भी ट्रेन से सुरक्षित निकाल लिया गया. जलते हुए कोचों से ट्रेन के बाकी हिस्से से अलग करने के लिए काफी मशक्कत की. मौके पर पहुंची मध्य प्रदेश पुलिस ने जल रहे कोचों को जान पर खेलकर अलग किया. इसे लेकर मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ‘तत्परता से काम किया गया, जिससे कोई जनहानि नहीं हुई. उन्होंने यह भी बताया कि ट्रेन में सवार रहे 37 डिप्टी कलेक्टर भी सकुशल हैं. हमारे पुलिस के जवानों के साहस को सलाम. ऐसे साहसी जवानों से युवाओं को प्रेरणा लेनी चाहिए.’ Also Read - Love Jihad: उमेश से मंदिर में की लव मैरिज, मां बनने के बाद पता चल पाया कि वह है सलमान

Also Read - Love Jihad : उमेश बनकर की थी लव मैरिज, निकला सलमान तो धर्म परिवर्तन के लिए बनाने लगा दबाव

शिवराज ने किए ये दो ट्वीट Also Read - Corona warrior डॉक्‍टर शुभम उपाध्‍याय के परिवार को 50 लाख रुपए देगी एमपी सरकार: सीएम

‘ग्वालियर के बिरला नगर रेलवे स्टेशन के पास एपी एक्सप्रेस में आग लगने के बाद ग्वालियर प्रशासन और पुलिस की तत्परता से जनहानि नहीं हुई. सभी यात्री, विशेषकर प्रशिक्षण से लौट रहे 37 डिप्टी कलेक्टर सकुशल हैं. मुस्तैदी से कार्य करने वाले अधिकारी और पुलिस बधाई और प्रसंशा के पात्र हैं. अपनी जान की परवाह किए बगैर आग की चपेट में आए दोनों डिब्बों को ट्रेन से अलग करने वाले पुलिस के जवानों के साहस को सलाम. आपने कई जिंदगियों को सुरक्षित कर अपने कर्तव्य और निष्ठा का परिचय दिया है. हमारे ऐसे साहसी जवानों से युवाओं को प्रेरणा लेनी चाहिए.’ बता दें कि ये डिप्टी कलक्टर ट्रेनिंग से वापस लौट रहे थे.

12 बजकर 6 मिनट पर देखा गया धुआं

आज सोमवार 21 मई को आंध्र प्रदेश एक्सप्रेस (22416) ग्वालियर के पास से गुजर रही थी. हजरत निजामुद्दीन से विशाखापत्तनम जाने वाली इस ट्रेन से धुआं उठते देखा गया. धुआं 12 बजकर 6 मिनट पर उठते देखा गया. सूचना पर बिरलानगर स्टेशन के पास ट्रेन को रोक दिया गया. तब तक ट्रेन के बी-6 व बी-7 एसी कोच में आग ने जोर पकड़ लिया, लेकिन किसी जानमाल के नुकसान के पहले ही रेल प्रशासन द्वारा सभी यात्रियों को सुरक्षित निकाल लिया गया.

ग्वालियर: बर्निंग ट्रेन बनी आंध्र प्रदेश एक्सप्रेस, दो AC कोच में लगी आग, सुरक्षित निकाले गए सभी यात्री

ग्वालियर स्टेशन ले जाए गए यात्री, सामान जला

इसके बाद इन दोनों कोच आग की लपटों से घिर गए. मौके पर फायर ब्रिगेड पहुंची. झांसी रेलवे डिवीज़न के पीआरओ मनोज कुमार ने बताया कि सभी यात्री सुरक्षित हैं. आग के कारणों का पता लगाया जा रहा है. आग क्यों लगी अभी इस बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता है. फिलहाल यात्रियों को ग्वालियर रेलवे स्टेशन ले जाया गया. यहां से जो यात्री जहां जिस ट्रेन से जाना चाहें, उन्हें भेजने का इंतज़ाम किया जाएगा. बताया जा रहा है कि ट्रेन में आग लगने से यात्री बेहद डरे हुए हैं. यात्रियों के बीच हलचल मच गई. उनका सामान जो ट्रेन में ही रह गया, वो जलने की सूचना है. हालांकि रेलवे ने किसी भी तरह की अफरातफरी से इनकार किया है. रेलवे का कहना है कि समय रहते स्थिति पर काबू पा लिया गया.

अलग किए गए आग वाले डिब्बे

रेलवे के पीआरओ मनोज कुमार ने बताया कि आग वाले दोनों कोच को ट्रेन से अलग कर दिया गया. इसमें पुलिस ने अहम् भूमिका निभाई. उन्होंने अपनी जान पर खेलकर कोच अलग किए. यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाला. रेलवे द्वारा आग के कारणों की जांच की जाएगी. रेलवे ने हेल्पलाइन नम्बर भी जारी कर दिए हैं. ग्वालियर और झांसी से यात्रियों के बारे में जानकारी ली जा सकती है. ग्वालियर झांसी रेल डिवीज़न में आता है.

ग्वालियर के हेल्पलाइन नम्बर

0751-2432799

0751-2432849,

झांसी के हेल्प लाइन नम्बर

0510- 2440787

0510- 2440790