Top Recommended Stories

Mulayam Singh Yadav की बहू Aparna Yadav ने राम मंदिर के लिए 11 लाख रुपए दान में दिए, फैमिली को लेकर दिया बड़ा बयान

Aparna Yadav, Mulayam Singh Yadav, News Upadte: अपर्णा यादव ने कहा, ''मैंने ये स्वेच्छा से किया है. मैं अपने परिवार के लिए जिम्मेदारी नहीं ले सकती

Published: February 20, 2021 10:05 AM IST

By India.com Hindi News Desk | Edited by Laxmi Narayan Tiwari

Mulayam Singh Yadav की बहू Aparna Yadav ने राम मंदिर के लिए 11 लाख रुपए दान में दिए, फैमिली को लेकर दिया बड़ा बयान
सपा नेता मुलायम सि‍ंंह यादव की बहू अपर्णा यादव ने राम मंद‍िर के ल‍िए 11 लाख रुपए का डोनेशन द‍िया है.

UP, Aparna Yadav, Ayodhya, Ram Mandir, SP, UP NEWS, उत्‍तर प्रदेश के समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के नेता व पूर्व मुख्‍यमंत्री मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) की बहू अपर्णा यादव (Aparna Yadav) ने धार्मिक नगरी अयोध्‍या (Ayodhya) में राम मंदिर के निर्माण के लिए 11 लाख रुपए दान में दिए हैं. इस मौके पर उन्‍होंने मंदिर को अपने परिवार की भूमिका की भूमिका से खुद का अलग कर दिया है.

मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव ने कहा, ”मैंने ये स्वेच्छा से किया है. मैं अपने परिवार के लिए जिम्मेदारी नहीं ले सकती. अतीत कभी भी भविष्य के बराबर नहीं होता है.”

You may like to read

बता दें कि मुलायम सिंह यादव जब मुख्‍यमंत्री थे, तब अयोध्‍या में कार सेवकों को रोकने के लिए अयोध्‍या में पुलिस और सुरक्षा बलों ने फायरिंग की थी. मुलाय सिंह यादव कई बार अपने भाषणों में अयोध्‍या में हुई फायरिंग के निर्देशों को लेकर अपनी जवाबदेही करार देते हुए नजर आते रहे हैं. समाजवादी पार्टी बीजेपी के अयोध्‍या में मंदिर के मुद्दे पर मुखर विरोधी रही है.

बता दें कि देशभर में राम मंदिर निर्माण के लिए चंदा जुटाने के लिए अभियान चलाए जा रहे हैं और करीब 1600 करोड़ रुपए से अधिक की राशि जुटाए जाने का अनुमान है.

Also Read:

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें India Hindi की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

By clicking “Accept All Cookies”, you agree to the storing of cookies on your device to enhance site navigation, analyze site usage, and assist in our marketing efforts Cookies Policy.

?>