अयोध्या: अयोध्या में राममंदिर भूमि पूजन कुछ ही देर में शुरू होने वाली है. इसी के साथ राम मंदिर को लेकर करोड़ों लोगों का सपना पूरा होने वाला है. राम का जन्म अयोध्या की ही धरती पर हुआ है यह गवाही अब खुद राम मंदिर देगी. हालांकि राम के जन्म को लेकर भी लगातार सवाल उठाए गए थे. इस बीच कुछ राजनेताओं को राम मंदिर रास नहीं आ रहा. AIMIM प्रमुख व हैदराबाद से सांसद अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट करते हुए लिखा हैशटैग बाबरी मस्जिद थी, है और रहेगी, इंशाअल्लाह. उन्होंने हैशटैग के साथ ट्वीट किया बाबरी जिंदा है. गौरतलब है कि ओवैसी पीएम के अयोध्या राम मंदिर भूमि पूजन में शामिल होने को लेकर भी ऐतराज जता चुके हैं.Also Read - महाराष्ट्र में मुस्लिमों को आरक्षण दिलाने के लिए यह कदम उठाएगी Asaduddin Owaisi की पार्टी AIMIM

बता दें कि ओवैसी की इस ट्वीट के बाद लोगों की प्रतिक्रियाएं तेजी से देखने को मिल रही हैं. कई लोगों का कहना है कि ओवैसी कोर्ट के आदेश की अवमानना कर रहे हैं. कई यूजर्स ने कहा कि भारतीय सुप्रीम कोर्ट के आदेश का आप सम्मान नहीं कर रहे हैं. बता दें कि यह पहली बार नहीं है जब ओवैसी राम मंदिर या बाबरी मस्जिद को लेकर विवादित ट्वीट किया है. यही नहीं ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की तरफ से भी धमकी भरा ट्वीट सामने आ चुका है. Also Read - Case registered against Wasim Rizvi: किताब में ‘आपत्तिजनक’ सामग्री के सिलसिले में वसीम रिजवी के खिलाफ मामला दर्ज

इस खास मौके पर मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड द्वारा सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सवाल उठाते हुए हागिया सोफिया मस्जिद का उदाहरण देते हुए कहा गया है कि बाबरी मस्जिद थी और हमेशा रहेगी. पर्सनल लॉ बोर्ड ने अधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया बाबरी मस्जिद थी और हमेशा रहेगी. हागिया सोफिया इसका एक बड़ा उदाहरण है. दमनकारी, शर्मनाक, अन्यायपूरण और बहुसंख्यक तुष्टिकरण निर्णय द्वारा जमीन पर पुनर्निमाण इसे बदल नहीं सकती है. दुखी होने की जरूरत नहीं क्योंकि कोई स्थिति हमेशा के लिए नहीं रहती. Also Read - राजस्थान में 2023 में होने वाला विधानसभा चुनाव लड़ेगी ओवैसी की पार्टी AIMIM