नयी दिल्ली: उत्तर प्रदेश के इटावा संसदीय क्षेत्र से भाजपा के सांसद अशोक कुमार दोहरे शुक्रवार को कांग्रेस में शामिल हो गए. बता दें कि भारतीय जनता पार्टी ने दोहरे का टिकट काटकर इटावा लोकसभा सीट से रामशंकर कठेरिया को उम्‍मीदवार बनाया है. जो कि आगरा से सांसद हैं. वैसे बता दें कि अशोक दोहरे यूपी के मुख्‍यमंत्री से काफी समय से खफा थे और इसको लेकर उन्‍होंने पीएम मोदी को एक पत्र भी लिखा था.

 

लोकसभा चुनाव 2019 उत्तर प्रदेश में बीजेपी के लिए चुनौतीपूर्ण होता जा रहा है. यह चुनौती किसी बाहरी से नहीं बल्कि अपने ही सांसदों की नाराजगी से वजह से उभर रही है. क्‍योंकि टिकट वितरण के बाद जिन सांसदों का टिकट कट रहा है, उसमें से ज्‍यादातर दूसरी पार्टी की ओर रूख कर रहे हैं. समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, शुक्रवार सुबह इटावा के भाजपा सांसद अशोक दोहरे ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की और कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की. इस मौके पर पार्टी महासचिव एवं पश्चिमी उत्तर प्रदेश के प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया और कुछ अन्य नेता मौजूद थे. बता दें कि दो दिन पहले ही हरदोई से भाजपा सांसद अंशुल कुमार वर्मा समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए थे.

BJP उम्‍मीदवार रामशंकर कठेरिया बोले, ‘केंद्र-राज्य में हमारी सरकार, किसी ने अंगुली दिखाई तो तोड़ देंगे’

दोहरे ने योगी सरकार के खिलाफ पीएम को भेजा था पत्र
इटावा से भाजपा सांसद अशोक दोहरे ने अप्रैल 2018 में यूपी की योगी सरकार से नाराज होकर पीएम मोदी को चिट्ठी लिखी थी. इसमें अशोक दोहरे ने कहा था कि 2 अप्रैल 2018 को ‘भारत बंद’ के बाद एससी/एसटी वर्ग के लोगों को उत्तर प्रदेश सहित दूसरे राज्यों में सरकारें और स्थानीय पुलिस झूठे मुकदमे में फंसा रही है उन पर अत्याचार हो रहा है. उन्होंने आरोप लगाया था कि पुलिस निर्दोष लोगों को जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल करते हुए घरों से निकाल कर मारपीट कर रही है. इससे इन वर्गों में गुस्सा और असुरक्षा की भावना बढ़ती जा रही है. अशोक दोहरे का ये पत्र बाद में मीडिया में सार्वजनिक हो गया था.

भोजपुरी अभिनेताओं के बूते पूर्वांचल-पश्चिम बंगाल के वोटरों को लुभाएगी BJP, बनाया ऐसा प्‍लान