अयोध्या: पिछले करीब 27 बरस से लावारिस शवों का अंतिम संस्कार कर मानवता की सेवा करने वाले अयोध्या के मकबूल बाशिंदे पद्मश्री मोहम्मद शरीफ उर्फ शरीफ चाचा को भी बुधवार को होने वाले राम मंदिर शिलान्यास कार्यक्रम में शिरकत का न्योता मिला है.Also Read - Bhumi Pujan First Prasad: अयोध्या में भूमि पूजन का पहला प्रसाद इस दलित परिवार को, जानें क्यों खास हैं महाबीर...

शरीफ के बेटे मोहम्मद सगीर ने मंगलवार को बताया कि करीब 82 वर्षीय उनके पिता को श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से भेजा गया निमंत्रण मंगलवार को दोपहर में मिला है. हालांकि उन्होंने यह कहा कि उनके पिता को पिछले कुछ समय से गुर्दों की बीमारी के कारण काफी परेशानी हो रही है और वह ठीक से चल भी नहीं पा रहे, लिहाजा वह कार्यक्रम में शरीक हो पाएंगे, इसमें संदेह है. Also Read - राम मंदिर के लिए PoK से लाई गई मिट्टी, बनाया गया था फुलप्रूफ प्लान, इस शख्स ने दिया काम को अंजाम

सगीर ने बताया कि शरीफ चाचा का अल्ट्रासाउंड कराया जा रहा है और उनकी हालत देखने के बाद तय किया जाएगा कि वह कार्यक्रम में शामिल हो पाएंगे या नहीं. पेशे से बाइसिकल मैकेनिक मोहम्मद शरीफ पिछले करीब 27 साल से जिले में लावारिस शवों का अंतिम संस्कार करते हैं. Also Read - Ram Mandir Bhoomi Pujan पर बॉलीवुड ने किया ऐसे रिएक्ट, कंगना रनौत बोलीं- 'भारत फिर से...' 

सगीर के मुताबिक उनके पिता हिंदू, मुस्लिम समेत सभी धर्मों से जुड़े लोगों के लावारिस शवों का उनकी आस्था के मुताबिक अंतिम संस्कार करते हैं. अब तक वह करीब 25,000 लावारिस शवों का अंतिम संस्कार कर चुके हैं. मानवता की इस महान सेवा के लिए मोहम्मद शरीफ को इस साल जनवरी में देश के चौथे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्मश्री से विभूषित किया गया था.

(इनपुट भाषा)