अयोध्या: रामलला विराजमान चैत्र नवरात्र से एक दिन पहले 24 मार्च को फाइवर के मंदिर में विराजमान होंगे. राम जन्मभूमि पर मंदिर बनने तक वह इसी फाइवर के मंदिर में रहेंगे. यह जानकारी श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने शनिवार को दी. चंपत राय ने बताया कि रामलला के लिए फाइबर का मंदिर दिल्ली में तैयार हो रहा है. चंपत राय के मुताबिक, ट्रस्ट की दूसरी बैठक रामनवमी के बाद चार अप्रैल को अयोध्या में ही होगी. Also Read - Ayodhya Ram Mandir: मंदिर निर्माण का प्रथम चरण, भव्य मंदिर में चांदी के सिंहासन पर बैठेंगे रामलला, CM योगी की गोद में पहुंचे नए स्थान पर

राय ने यहां मीडिया से बातचीत में कहा, “बैठक की तैयारियां शुरू कर दी गई हैं. इसी के साथ ही रामलला को टाट के मंदिर से निकाल कर 24 मार्च को फाइबर के मंदिर में स्थापित कर दिया जाएगा. इस दिशा में कार्यवाही काफी तेजी से चल रही है.” Also Read - राष्ट्रपति ने पूर्व चीफ जस्टिस रंजन गोगोई को राज्यसभा के लिए नामित किया, राम मंदिर पर दिया था ऐतिहासिक फैसला

चंपत राय ने शनिवार को ट्रस्ट के सदस्यों के साथ परिसर का निरीक्षण किया. इस दौरान जिलाधिकारी ए.के. झा भी मौजूद रहे. Also Read - बाबरी विध्वंस मामले में 24 मार्च को दर्ज होंगे आरोपियों के बयान

राम मंदिर परिसर का निरीक्षण करने के बाद राय ने कहा, “मंदिर का निर्माण और इसको राम मंदिर परिसर में स्थापित करने का काम सुरक्षा एजेंसी के ऊपर है. वह समय से फाइबर मंदिर बनवा कर यहां स्थापित कर देगी. ट्रस्ट के अयोध्या कार्यालय का भवन भी निश्चित कर लिया गया है, जो राम मंदिर के प्रवेश द्वार के चेकिंग पॉइंट के बगल में ही स्थित है. इसको भी पूरी तरह से व्यवस्थित किया जाएगा.”

श्री राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के खाते में पहली बार 20 फरवरी से 5 मार्च तक की रामलला को चढ़ाई गई धनराशि जमा की गई. श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के खाता संचालन के लिए अधिकृत सदस्य डॉ. अनिल मिश्र के मुताबिक, अयोध्या की भारतीय स्टेट बैंक की शाखा में खोले गए ट्रस्ट के खाते में गुरुवार व शुक्रवार दो दिनों की काउंटिंग के बाद आठ लाख चार हजार 982 रुपये जमा किए गए हैं.

(इनपुट आईएएनएस)