नई दिल्ली: अयोध्या में इस साल भव्य रामलीला का आयोजन किया जाएगा. अयोध्या के प्रसिद्ध ऐतिहासिक लक्ष्मण किली मंदिर में इस साल रामलीला कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा. राम मंदिर निर्माम के कारण लोगों में काफी खुशी देखने को मिल रही है. इस कारण दिल्ली स्थित मां फाउंडेशन अयोध्या रामलीला कमेटी द्वारा इस साल अयोध्या में रामलीला का आयोजन किया जाएगा. इसबार के रामलीला में रामायण के सभी किरदार अभिनेता और राजनेता निभाएंगे.Also Read - NCB की सतर्कता जांच टीम ने समीर वानखेड़े से 4 घंटे तक की पूछताछ और कहा...

अभिनेताओं और राजनेताओं से सजी इस रामलील के उद्घाटन के लिए प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और मुख्यमंत्री को न्यौता भी भेजा जा चके हैं. यह कार्यक्रम 17-25 अक्टूबर तक चलने वाला है. ऐसे में पीएम नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को उद्घाटन के लिए आमंत्रित किया गया है. बता दें कि इस साल आयोजित होने वाले रामलीला कार्यक्रम में कुल 22 कलाकार भाग ले रहे हैं. हालांकि अब तक यह सामने नहीं आ पाया है कि राम और सीता का किरदार कौन निभाएगा. Also Read - NCB जांच टीम के सामने बयान दर्ज कराने के बाद समीर वानखेड़े ने दिया ये बयान

खबरों की मानें तो रवि किशन भरत की भूमिका में नजर आएंगे, वहीं अंगद की भूमिका में मनोज तिवारी दिखाई देंगे. अगर अन्य कलाकारों की बात करें तो अहिरावण के किरदार के लिए रजा मुराद, हनुमान के रोल के लिए बिंदु दारा सिंह, रावण के किरदार के लिए शाहबाज खान और नारद मुनि का किरदार असरानी निभाएंगे. ऐसे ही कुल 22 कलाकार इसमें शामिल होने वाले हैं. Also Read - NCB की टीम समीर वानखेड़े के खिलाफ जांच के लिए कल दिल्‍ली से मुंबई जाएगी, सोर्स

बता दें कि इस दौरान यहां कोरोना माहमारी का भी ध्यान रखा जाएगा. यह रामलीला स्पेशल इसलिए भी है क्योंकि रामलीला कार्यक्रम के दौरान इसे यूट्यूब, ऑनलाइन माध्यम और सैटेलाइट चैनलों पर प्रसारित किया जाएगा. इस साल के रामलीला को लेकर संतों में खासा उत्साह देखने को मिल रहा है. अयोध्या के संत समाज का मानना है कि हर साल अयोध्या में इसी तरीके से रामलीला का आयोजन किया जाना चाहिए. बता दें कि रामलीला के आयोजन में सरकार का कोई योगदान नहीं है, निजी लोगों द्वारा इसका आयोजन कराया जा रहा है.