बांदा: अक्सर देखा गया है कि देश में बढ़ती बेरोजगारी की वजह से लोग आत्महत्या करने पर अमदा हो जाते हैं. ऐसा ही एक मामला बांदा जिले से सामने आया है, जिसमें एक छात्र ने बेरोजगारी से परेशान होकर आत्महत्या कर ली. बताया जा रहा है कि आत्महत्या करने वाला छात्र बीएड पास कर रखा था और वह  बांदा जिले के नगर कोतवाली क्षेत्र के जरैली कोठी मोहल्ला में किराए के मकान पर रह रहा था.

राम मंदिर निर्माण कार्य का नाम लिए बिना CM योगी बोले- जल्द मिलेगी बड़ी खुशखबरी

नगर कोतवाली क्षेत्र के प्रभारी (एसएचओ) बलजीत सिंह ने सोमवार को बताया कि रविवार को जरैली कोठी में बीएड के छात्र नागेंद्र सिंह (25) का शव कमरे की छत में लगे हुक से रस्सी के फंदे में लटका हुआ बरामद किया गया. उन्होंने बताया ‘‘कमरे की तलाशी लेने के दौरान एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है, जिसमें मृतक ने नौकरी न मिल पाने को आत्महत्या का कारण बताया है.’’

योगी आदित्यनाथ पांच दिन संभालेंगे गोरक्ष पीठाधीश्वर का पद, अपने हाथों से कराएंगे कन्याभोज

इसके अलावा सिंह ने बताया कि सुसाइड नोट को जांच के लिए भेजा दिया गया है. मृतक मरका क्षेत्र के सांडा गांव का निवासी था. वह बबेरू के एक डिग्री कॉलेज में बीएड प्रथम वर्ष का छात्र था. पोस्टमॉर्टम कराने के बाद शव परिजन को सौंप दी गई है. साथ ही उन्होंने बताया कि मामले की जांच शुरू कर दी गयी है.