लखनऊ: योग गुरु बाबा रामदेव ने मथुरा जिले में यमुना किनारे एक आश्रम में आयोजित कार्यक्रम में देश के कई संतों की उपस्थिति में केंद्र सरकार के समक्ष मांग रखते हुए कहा कि गाय को राष्ट्रमाता घोषित किया जाए. उन्होंने कहा कि सरकार को आगामी लोकसभा चुनाव की तिथियां घोषित होने से पूर्व ही यह जिम्मेदारी निभानी चाहिए. ऐसा करने से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भरपूर जनसमर्थन मिलेगा.

उत्‍तराखंड विधानसभा में पास हुआ गाय को ‘राष्ट्रमाता’ घोषित करने का प्रस्ताव

रामदेव ने कहा कि प्रधानमंत्री को चाहिए कि वह गाय को राष्ट्रमाता का दर्जा दिलाएं और गंगा-यमुना को राष्ट्रीय धरोहर घोषित कर उनमें व्याप्त गंदगी को दूर करें. उन्होंने कहा कि मोदी खुद राष्ट्र भक्त, गो भक्त और गंगा भक्त हैं. हिन्‍दू होने पर वे गौरव भी महसूस करते हैं. इसलिए यह जरूरी भी हो जाता है. जब मोहनदास करमचंद गांधी को श्रद्धापूर्वक राष्ट्रपिता कहा जाता है. प्रधानमंत्री आगामी लोकसभा चुनाव की तिथियां घोषित होने से पूर्व गो माता को राष्ट्रमाता का दर्जा देकर इस गो हत्या के कलंक से मुक्त कराएं. वहीं, गंगा और यमुना को राष्ट्रीय धरोहर घोषित कर गंदगी से मुक्त करें. ऐसा करने से उन्हें इतना आशीर्वाद मिलेगा कि राजनीति की सारी बाधा ही दूर हो जाएगी. इस बात का सभी संतों ने स्वागत किया और समर्थन भी दिया.

बीजेपी विधायक ने कहा- गाय को ‘राष्ट्र माता’ का दर्जा नहीं मिलने तक नहीं रूकेगी लिंचिग

उत्‍तराखंड में गाय को ‘राष्ट्रमाता’ घोषित किये जाने का प्रस्ताव पारित
उत्तराखंड विधानसभा ने बीते दिनों गाय को ‘राष्ट्रमाता’ घोषित किये जाने का प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित कर दिया था. इस प्रस्ताव को केंद्र सरकार को भेजा गया है. प्रदेश की पशुपालन मंत्री रेखा आर्य ने राज्य विधानसभा में यह प्रस्ताव रखते हुए कहा था कि यह सदन भारत सरकार से अनुरोध करता है कि गाय को राष्ट्रमाता घोषित किया जाए. पशुपालन मंत्री रेखा आर्य ने कहा था कि गाय को मां का रूप माना गया है और किसी बच्चे को मां का दूध उपलब्ध न होने पर गाय के दूध को वैज्ञानिक द्रष्टि से भी उसका सर्वश्रेष्ठ विकल्प माना गया है.