लखनऊ: अयोध्या में विवादित ढांचा गिराए जाने की 26 वीं बरसी पर बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी प्रधानमंत्री और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को एक ज्ञापन भेज कर मांग करेगी कि अयोध्या में विवादित स्थान पर उच्चतम न्यायालय के आदेशानुसार यथास्थिति बनाये रखी जाये. उधर, अयोध्या में विहिप एवं विभिन्न हिन्दू संगठनों के कई धार्मिक कार्यक्रम प्रस्‍तावित हैं, जिसमें हवन कर राम मंदिर निर्माण का संकल्प लिया जाएगा.

बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी के संयोजक जफरयाब जिलानी ने कहा कि पहले के सालों की तरह इस साल भी बरसी शांतिपूर्वक मनायी जानी चाहिये. प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को संबोधित ज्ञापन सभी जिलों के जिलाधिकारी को सौंपा जायेगा और उनसे मांग की जायेगी कि उच्चतम न्यायालय के आदेशानुसार अयोध्या में यथास्थिति बनाये रखी जाये. उन्होंने कहा कि इसमें यह भी कहा जायेगा कि जो लोग माहौल खराब करें या भड़काऊ भाषण दें, उनके साथ कठोरता से निपटा जाये तथा अयोध्या में मुस्लिमों सहित सभी लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के इंतजाम किये जायें. बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी ने लोगों से अपील की है कि वह शांत रहें और विवाद जल्द खत्म होने के लिये विशेष प्रार्थना सभायें करें.

विवादित बाबरी ढांचा ढहाए जाने की 26वीं बरसी आज, अयोध्‍या-मथुरा में कड़े सुरक्षा इंतजाम

अयोध्या में विहिप एवं विभिन्न हिन्दू संगठनों के कई धार्मिक कार्यक्रम प्रस्‍तावित
विहिप ने 25 नवंबर को यहां अयोध्या में धर्म सभा का आयोजन किया था. वह छह दिसंबर को शौर्य दिवस मनाएगी. नगर में 18 दिसंबर को गीता जयंती का भी कार्यक्रम है. विहिप प्रवक्ता शरद शर्मा ने बताया कि शौर्य दिवस पारंपरिक रूप से मनाया जाएगा. अयोध्या में विहिप एवं विभिन्न हिन्दू संगठनों के कई धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन प्रस्तावित है. हवन भी होगा और राम मंदिर निर्माण का संकल्प लिया जाएगा. उन्होंने बताया कि सर्व बाधा मुक्ति हवन होगा ताकि हर तरह की बाधाओं से मुक्ति प्राप्त हो सके. शहादत देने वाले निर्दोष कारसेवकों को श्रद्धांजलि दी जाएगी.

‘शौर्य दिवस’ पर विहिप को अंतरराष्ट्रीय हिन्दू परिषद की चुनौती, अलग-अलग करेंगे ये कार्यक्रम

अयोध्‍या में सुरक्षा इंतजाम कड़े
बाबरी मस्जिद विध्वंस के कल 26 वर्ष पूरे होने को देखते हुए धार्मिक नगरी अयोध्या में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किये गये हैं. राम जन्मभूमि के आसपास और हनुमानगढी में सुरक्षा के विशेष इंतजाम हैं. अयोध्या के महापौर ऋषिकेश उपाध्याय ने बताया कि हाल ही में विहिप की धर्म सभा के दौरान अयोध्या में शांति कायम रही. इस समय भी शांति है और पर्याप्त संख्या में सुरक्षा बल तैनात हैं. उन्होंने बताया कि राम जन्मभूमि और आसपास के क्षेत्रों में 20 से 25 कंपनी पुलिस एवं पीएसी स्थायी रूप से तैनात रहती है ताकि सुरक्षा को लेकर किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं आये. (इनपुट एजेंसी)