बांदा: उत्तर प्रदेश में बांदा जिले के बबेरू कस्बे में दो सप्ताह पूर्व एक कॉलेज के शिक्षक की कथित पिटाई से घायल दसवीं कक्षा के छात्र की कानपुर के एक अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई. इस घटना में पुलिस ने शिक्षक और एक छात्र के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया है. Also Read - Corona Spike in UP: यूपी में COVID19 के 15,353 नए केस आए इलाहाबाद HC में कल से ऑनलाइन सुनवाई

Also Read - अब इस राज्य में कोरोना वायरस की खतरनाक बढ़ोतरी, 18 अप्रैल तक सभी स्कूल बंद किए गए

अवैध खनन के खिलाफ सत्याग्रह कर रहीं महिला किसानों ने BJP विधायक को घेरा, मुश्किल से निकल पाए Also Read - COVID-19: देश की सड़कें फिर नजर आईं सूनी, कोरोना संक्रमण के 72 फीसदी से ज्‍यादा केस सिर्फ इन 5 राज्यों से हैं

अपर पुलिस अधीक्षक (एएसपी) लाल भरत कुमार पाल ने रविवार को बताया कि छात्र आयुष गुप्ता (15) जेपी शर्मा इंटर कॉलेज बबेरू में दसवीं कक्षा का छात्र था. वह इसी कॉलेज में तैनात शिक्षक ऋषिकांत के कोचिंग सेंटर में भी पढ़ता था. शिक्षक व एक अन्य छात्र दिवाकर तिवारी ने उससे दसवीं कक्षा में पास कराने के एवज में दस हजार रुपए देने को कहा, उसके मना करने पर नौ अक्टूबर को दोनों ने कथित तौर पर उसके साथ मारपीट की थी.

हॉस्पिटल में गैंगरेप: तीन के खिलाफ एफआईआर, ICU में हाथ-पैर बांध, इंजेक्शन देकर की थी दरिंदगी

एएसपी ने छात्र के पिता सतीशचंद्र गुप्ता के हवाले से बताया कि शिक्षक और एक अन्य छात्र की पिटाई से बुरी तरह घायल आयुष को कानपुर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां शुक्रवार की रात उसकी मौत हो गई. उन्होंने बताया कि मृत छात्र के पिता की तहरीर पर बबेरू कोतवाली में शिक्षक ऋषिकांत और छात्र दिवाकर तिवारी के खिलाफ धारा-387 (अवैध वसूली) और 304 (गैर इरादतन हत्या) का मुकदमा दर्ज कर शनिवार को पोस्टमॉर्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया. इस घटना में फिलहाल किसी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हुई है. पुलिस घटना की जांच कर रही है.