लखनऊ/बांदा: उत्तर प्रदेश के बांदा जिला मुख्यालय में शुक्रवार को सिटी मजिस्ट्रेट द्वारा कुछ पत्रकारों की पिटाई का मामला अब राजभवन पहुंच गया है. जहां एक ओर तिंदवारी के भाजपा विधायक बृजेश प्रजापति ने राज्यपाल को पत्र लिखकर संज्ञान लेने का अनुरोध किया है, वहीं दूसरी ओर पत्रकारों के एक संगठन ने भी ज्ञापन सौंपकर न्याय संगत कार्रवाई की मांग उठाई है. Also Read - Driving License Latest Update: अब चुटकियों में बन जाएगा ड्राइविंग लाइसेंस, बदल गए हैं नियम, जानिए

Also Read - शर्मनाक: नशे में धुत बड़े भाई ने शादीशुदा बहन के साथ किया Rape, वीडियो भी बनाया

भाजपा विधायक बृजेश प्रजापति ने शनिवार को राज्यपाल राम नाइक को लिखे पत्र में कहा कि प्रदेश के कई क्षेत्रों में प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से जुड़े पत्रकारों पर हमलों की घटनाएं बढ़ी हैं. शुक्रवार को बांदा के सिटी मजिस्ट्रेट द्वारा कुछ पत्रकारों के साथ धक्का-मुक्की और हाथपाई के मामले में संज्ञान लेकर मुकदमा दर्ज कराया जाए. उन्होंने कुछ माह पहले पत्रकारों के खिलाफ घटी घटनाओं का भी जिक्र किया है. Also Read - UP: घर से लड़की के लापता होते ही आया था फोन- वीडियो कर देंगे वायरल, फ‍ि‍र रेलवे पटरी के पास मिली लाश

बांदा के सिटी मजिस्ट्रेट ने पत्रकारों को पीटा, कमिश्नर ने तलब की रिपोर्ट

उधर, जर्नलिस्ट्स यूनियन ऑफ यूपी के अध्यक्ष रुद्रेश घिल्डियाल ने बताया कि उनके संगठन का एक प्रतिनिधिमंडल शनिवार को राजभवन जाकर राज्यपाल के विशेष कार्याधिकारी (ओएसडी) को एक ज्ञापन सौंपकर बांदा में पत्रकारों के साथ घटी घटना की उच्चस्तरीय जांच कराकर सिटी मजिस्ट्रेट प्रदीप कुमार के खिलाफ अभियोग दर्ज कराकर न्यायसंगत कार्रवाई की मांग की है. उल्लेखनीय है कि भ्रष्टाचार के खिलाफ हो रहे ग्रामीणों के प्रदर्शन का शुक्रवार को कवरेज करने गए कुछ पत्रकारों के सवाल पूछने पर सिटी मजिस्ट्रेट ने उनके साथ मारपीट की थी. सिटी मजिस्ट्रेट ने आरोप को नकार दिया है.