Uttar Pradesh Accident: गाजियाबाद के मुरादनगर में रविवार दोपहर को उखलारसी श्मशान घाट की छत भरभराकर गिर गई, जिसमें दबकर अबतक 18 लोगों की मौत की सूचना है. वहीं हादसे में दो दर्जन से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं. अभी तक मलबे में कई लोगों के दबे होने की बात कही जा रही है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने घटना का संज्ञान लेते हुए कहा, “मैंने जिला अधिकारियों को राहत अभियान चलाने और घटना की रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है. घटना से प्रभावित लोगों को हर संभव मदद प्रदान की जाएगी.Also Read - नोएडा और गाजियाबाद में बढ़ते कोरोना के नए मामलों ने बढ़ाई चिंता, पॉजिटिविटी दर हुई 8 प्रतिशत

Also Read - दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर सफर करने वालों को मिलने जा रही ये खुशखबरी, दिल्ली से मेरठ पहुंचना होगा और आसान

मेरठ की कमिश्नर अनिता सी मेश्राम ने आधिकारिक पुष्टि करते हुए बताया है कि हादसे में अबतक 17 लोगों की मौत हो गई है और 38 लोगों को मलबे से निकाला गया है. घटना की जांच की जा रही है जो भी दोषी पाए जाएंगे उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. Also Read - यूपी के पीलीभीत में बड़ा हादसा: पेड़ से जा टकराई पिकअप वैन, 10 लोगों की मौके पर ही मौत, सात बुरी तरह घायल

लोगों ने बताया कि दयानंद कॉलोनी निवासी दयाराम की रात को बीमारी के चलते मौत हो गयी थी और उनके अंतिम संस्कार में 100 से ज्यादा मोहल्लेवासी व रिश्तेदार शामिल हुए थे. अंतिम संस्कार की अंतिम प्रक्रिया चल रही थी. पुजारी के आह्वान पर सभी लोग श्मशान घाट परिसर में बने भवन के अंदर खड़े होकर आत्म शांति पाठ कर रहे थे कि इसी दौरान एक तरफ की जमीन धंस गयी. परिणामस्वरूप दीवार नीचे बैठ गयी और लेंटर गिर गया और कमरे में से किसी को भागने तक का मौका नहीं मिला.

चीख पुकार के बीच कुछ लोग उसके अंदर ही मलबे में दब गए जबकि कुछ ने दौड़कर अपनी जान बचाई. घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस तत्काल मौके पर पहुंच गई. भवन ज्यादा पुराना नहीं था. आशंका है कि भराव की जमीन में भवन बना था और सुबह से हो रही बारिश में मिट्टी बैठने से घटना हुई है. पुलिस मलबे से जीवित व मृत लोगों को निकालने में लगी है. घायलों को अलग अलग अस्पताल में भर्ती कराया गया है.