लखनऊ: उत्तर प्रदेश के प्रत्येक विकास खंड में संचालित कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में जल्द ही 9वीं से 12वीं कक्षा तक की पढ़ाई शुरू होने जा रही है. पहले चरण में सरकार ने 350 केजीबीवी को कक्षा 9 से 12 तक उच्चीकृत करने की मंजूरी प्रदान की है. अभी ऐसे केजीबीवी का चयन किया जा रहा, जिसमें कक्षा 6 से 8 तक पढ़ाई हो रही है.

स्कूल शिक्षा महानिदेशक विजय किरन आनंद ने बताया कि कक्षा 12 की पढ़ाई के लिए दो मानक तय किए गए हैं. ऐसे केजीबीवी विद्यालय जहां तीन किमी के दायरे में इंटर कॉलेज नहीं है. उन केजीबीवी विद्यालयों में एकेडमिक और गर्ल्स हास्टल बनाए जाएंगे, जहां कक्षा नौ से 12 तक की पढ़ाई होगी. इन 121 विद्यालयों में 100 छात्राओं के लिए यह व्यवस्था होगी.

उन्होंने कहा कि सरकार समस्त समग्र शिक्षा अभियान के तहत हर स्कूल में नए शैक्षिक ब्लाक के लिए 1 करोड़ 77 लाख 16 हजार रुपये का प्रावधान करेगी. वहीं पहले चरण में उच्चीकृत होने वाले 229 केजीबीवी हैं. केजीबीवी की छात्राओं को कक्षा 9 से 12 की शिक्षा करीब के माध्यमिक विद्यालय में दी जाएगी. लेकिन छात्रावास की सुविधा केबीजीवी में ही होगी.

शिक्षा महानिदेशक ने बताया कि केबीवीजी विद्यालयों में छात्राओं की शत प्रतिशत उपस्थिति, अवस्थापना, कर्मियों को चिन्हित करके उनके निराकरण प्रेरणा एप के माध्यम से किया जाना है. प्रदेश के सभी 746 केजीबीवी विद्यालयों को प्रेरणा एप से जोड़ा जाएगा.