पटना: बिहार और नेपाल के बीच मंगलवार से बस सेवा शुरू हो गई. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार से नेपाल जाने वाली इन बसों को हरी झंडी दिखाकर कर रवाना किया. परिवहन विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि बोधगया से काठमांडू और पटना से जनकपुर के बीच बस सेवा शुरू की गई है. इन दोनों रूटों पर कुल आठ बसें चलेंगी.Also Read - Bihar Unlock-9.0: बिहार में शादी करने से पहले प्रशासन की लेनी होगी इजाजत, जान लीजिए अनलॉक के नए दिशा-निर्देश

Also Read - Bihar Liquor Ban: जहरीली शराब से मौत के बाद एक्शन में BJP, JDU से की मांग-अब शराबबंदी की समीक्षा जरूरी

रवाना करने से पहले मुख्यमंत्री ने अत्याधुनिक तकनीक और सुविधाओं से सुसज्जित बिहार राज्य पथ परिवहन निगम की इन बसों का निरीक्षण किया. परिवहन मंत्री संतोष कुमार निराला ने मुख्यमंत्री को फूलों का गुलदस्ता भेंट किया. बोधगया मंदिर प्रबंधन समिति के सचिव नांग्जे दोरजे एवं मुख्य भिक्षु चालिंदा ने मुख्यमंत्री को अंगवस्त्र भेंटकर उनका अभिनंदन किया. इस मौके पर नीतीश को मिथिला का पाग, अंगवस्त्र एवं मधुबनी पेंटिंग भेंटकर स्वागत किया गया. बिहार एवं नेपाल के कलाकारों ने मुख्यमंत्री के समक्ष लोकनृत्य प्रस्तुत किया. Also Read - बिहार के पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने कहा, मोदीजी, 15 दिन के लिए जम्मू-कश्मीर बिहारियों को सौंप दीजिए, फिर देखिए

पटना से जनकपुर-काठमांडू के लिए चलेंगी लग्जरी बसें, देश के लिए खास हैं ये दोनों जगहें, जानिए क्यों

परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि परिवहन विभाग ने बोधगया से काठमांडू और पटना से जनकपुर के बीच बस सेवा शुरू की है. आज से दोनों रूटों पर आठ बसें चलेंगी. पटना-जनकपुर रूट की बसें पटना, मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, भिट्ठा मोड़ होते हुए जनकपुर जाएंगी, जबकि बोधगया-काठमांडू रूट की बसें गया, पटना, हाजीपुर, मुजफ्फरपुर, मोतिहारी, रक्सौल, वीरगंज होते हुए काठमांडू जाएंगी.

बिहार के रक्सौल से नेपाल के काठमांडू को रेल नेटवर्क से जोड़ेगा भारत

पटना से जनकपुर की दूरी करीब 210 किलोमीटर है. सीतामढ़ी होते हुए जनकपुर पहुंचने में कुल 6 घंटे लगेंगे. इसी तरह बोधगया से काठमांडू 480 किलोमीटर दूर है. काठमांडू पहुंचने में बस 14 घंटे लेगी. बता दें कि 8 मई, 2018 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि जल्द ही नेपाल के लिए नई बस सेवायें भी शुरू की जाएंगीं.

पीएम मोदी ने जनकपुर में अयोध्या के लिए सीधी बस सर्विस का किया उद्घाटन

बीएसआरटीसी की 2015 मॉडल की ये बसें पूरी तरह से लग्जरी हैं. सीटें आरामदायक होंगीं, जिन पर यात्री बैठ और लेट भी सकते हैं. सीट बेल्ट होगी. हाथ रखने के लिए सीट के दोनों तरफ ‘आर्मसेट्स’ होंगे. पैर फैलाने के लिए आगे पर्याप्त जगह होगी. बेहद आरामदायक सीट होगी. वाई-फाई, डिजिटल ऑडियो-वीडियो डीवीडी प्लेयर, एलसीडी स्क्रीन, मोबाइल लैपटॉप चार्जर पॉइंट हर सीट पर होगा. मैगजींस भी यात्रियों के पढ़ने के लिए होंगीं.