लखनऊ : भारतीय जनता पार्टी ने मंगलवार को सपा पर आरोप लगाया कि उसने उत्तर प्रदेश में मुख्तार अंसारी और अतीक अहमद जैसे माफियाओं को राजनीतिक संरक्षण दिया. Also Read - शिवपाल सिंह का बड़ा ऐलान, बोले- भाजपा से नहीं, सपा के साथ करेंगे गठबंधन

Also Read - सुशील मोदी का केंद्र में जाना, शाहनवाज हुसैन का बिहार आना, बीजेपी के इस कदम के क्या हैं सियासी मायने!

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता शलभ मणि त्रिपाठी ने कहा, ‘उत्तर प्रदेश में मुख्तार अंसारी और अतीक अहमद जैसे माफियाओं को राजनैतिक संरक्षण देकर सियासत का गलियारा दिखाने वाली समाजवादी पार्टी के मुखिया राज्य की बेहतर हुई कानून व्यवस्था पर सवाल उठाकर खुद को ही बेनकाब कर रहे हैं.’ उन्होंने कहा, ‘सपा सरकार में लोकप्रिय विधायक कृष्णानंद राय की बर्बर हत्या हुई थी. माफियाओं का विरोध करने पर मारे गये जनप्रिय विधायक के पीड़ित परिवार के साथ खड़े होने की बजाय सपा, हत्यारोपी मुख्तार अंसारी के साथ खड़ी नजर आई. इसी तरह इलाहाबाद के विधायक राजू पाल के हत्यारोपी अतीक अहमद को भी सपा ने ही खुलेआम संरक्षण दिया.’ Also Read - पूर्वी मिदनापुर में सुवेंदु अधिकारी की रैली से पहले TMC-भाजपा कार्यकर्ताओं में हिंसक झड़प, कई घायल

10 गोलियों में खत्म हुए ‘डॉन’ ने जिसे AK-47 से मारी थीं 18 गोलियां वो है जिंदा, बताई दहशत की दास्तान

त्रिपाठी ने कहा कि अपराधियों और सपा की साठगांठ का खुलासा तभी हो गया, जब प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार माफियाओं की कमर तोड़ने के लिए यूपीकोका विधेयक लेकर आई. सपा ने बसपा के साथ मिलकर इस बिल का पुरजोर विरोध किया. उन्होंने कहा कि योगी राज में अपराधी खौफ में हैं. तमाम खूंखार अपराधी गले में तख्ती डालकर पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर चुके हैं. तमाम अपराधी प्रदेश छोड़कर बाहर भाग गये हैं.

त्रिपाठी ने कहा कि सोमवार को बागपत जेल में हुई कुख्यात माफिया मुन्ना बजरंगी की हत्या को गंभीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री ने न सिर्फ जिम्मेदार अफसरों पर जरूरी कार्रवाई की, बल्कि हत्यारों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई करने का आदेश दिया है.

UP: देश का सबसे लंबा हाई-वे होगा ‘पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे’, जानिए इससे जुड़ी 10 खास बातें

उल्लेखनीय है कि सपा मुखिया अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा था कि आज यूपी में न तो कानून बचा है न व्यवस्था. हर तरफ दहशत का वातावरण है. अपराधियों के हौसले इतने बुलंद हो गये हैं कि वो जेल में भी हत्याएं कर रहे हैं. यह सरकार की विफलता है, प्रदेश की जनता इस भय के माहौल में बहुत डरी सहमी है, प्रदेश में ऐसा कुशासन व अराजकता का दौर कभी नहीं देखा.