नई दिल्ली: यूपी के बहराइच से बीजेपी सांसद सावित्री बाई फुले ने एक बार फिर अपनी ही सरकार पर जोरदार हमला बोला है. मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के जज कह रहे हैं कि आज लोकतंत्र खतरे में है. कभी कहा जा रहा है कि हम भारत के संविधान को बदलने के लिए आए हैं, कभी कहा जा रहा है कि हम आरक्षण को समाप्त करेंगे. भारत के संविधान की समीक्षा करेंगे. उन्होंने कि कहा जा रहा है कि भारत के संविधान को ऐसे समाप्त करेंगे कि रहना न रहना एक बराबर होगा. तो अगर भारत का संविधान, आरक्षण खत्म हो जाएगा तो देश का बहुजन समाज ही नहीं पूरे देश के लोगों के अधिकार खत्म हो जाएंगे.

गौरतलब है कि सांसद सावित्री बाई फुले समय-समय पर अपनी सरकार के खिलाफ बयान देती रही हैं. कुछ दिन पहले उन्होंने जिन्ना विवाद को लेकर कहा था कि मोहम्मद अली जिन्ना महापुरुष थे और हमेशा रहेंगे. आजादी की लड़ाई में उनका अहम योगदान था. ऐसे महापुरुष की तस्वीर जहां जरूरत हो, उस जगह पर लगाई जानी चाहिए.

बीजेपी सांसद सावित्री बाई फुले पहले भी दलितों और बहुजनों के मुद्दे उठाती रही हैं. कुछ दिन पहले उन्होंने कहा था कि दलितों और गरीबों की जिंदगी वैसी ही है, जैसी पहले थी. सरकार की योजनाएं उन तक नहीं पहुंच रही हैं. लाभ के नाम पर गरीबों को झुनझुना पकड़ाया जा रहा है. उन्होंने आलोचना करते हुए कहा कि सरकार की योजनाओं का लाभ गरीबों-दलितों से दूर है. दलितों के मुद्दे पर सांसद सावित्री बाई फुले धरना प्रदर्शन भी कर चुकी हैं. सांसद का कहना है कि वह अपने संगठन नमो बुद्धाय जनसेवा समिति के जरिए लोगों को जागरूक कर रही हैं.