नई दिल्ली: भाजपा के महासचिव भूपेन्द्र यादव ने लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में प्रियंका गांधी वाड्रा के ‘प्रभाव’ को अधिक तवज्जो नहीं देते हुए कहा है कि वह पिछले चुनावों में भी इस राज्य में चुनाव प्रचार में करती रही हैं. यह पूछे जाने पर कि चुनावी समर में प्रियंका के आने से उत्तर प्रदेश समेत अन्य क्षेत्रों में क्या प्रभाव पड़ेगा, भाजपा महासचिव ने कहा कि उन्‍हें कोई प्रभाव नहीं दिखता. वह (प्रियंका) पहले भी प्रचार अभियान में शामिल रही हैं.

यूपी में BJP के प्रत्याशियों की सूची: केंद्रीय मंत्री, SC कमीशन अध्यक्ष सहित 6 सांसदों के टिकट कटे

प्रियंका गांधी पिछले कई चुनाव में अमेठी एवं रायबरेली सीटों पर अपने भाई राहुल गांधी एवं मां सोनिया गांधी के लिये प्रचार करती रही हैं. भाजपा के महासचिव भूपेन्द्र यादव ने कहा कि देश की जनता नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में निर्णायक एवं प्रगतिशील सरकार को फिर जनादेश देने का मन बना चुकी है. उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस की साख लगातार घटी है. कांग्रेस नकारात्मक एजेंडे को लेकर चल रही है और राहुल गांधी समेत उसके नेताओं के आरोप लगातार झूठे साबित हो रहे हैं.

आडवाणी की चुनावी राजनीति समाप्त, चुनाव नहीं लड़ेंगे भाजपा के वयोवृद्ध नेता!

विपक्षी गठबंधन की स्थिति डांवाडोल
भाजपा नेता ने सपा-बसपा गठबंधन में कांग्रेस को शामिल नहीं किए जाने का उल्लेख करते हुए कहा कि जिनकी साख ही नहीं बची, उन्हें गठबंधन में लेने को भी कोई तैयार नहीं है. यादव ने दावा किया कि विपक्षी दल अपने विरोधाभासों से घिरे हुए हैं. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल, दिल्ली, आंध्रप्रदेश सहित महत्वपूर्ण प्रदेशों में विपक्षी गठबंधन की स्थिति डांवाडोल है. उन्होंने बताया कि लोकसभा चुनाव में भाजपा का सूत्र वाक्य ‘प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में स्थायी, निर्णायक एवं प्रगतिशील सरकार’ होगी.

टिकट मिलने पर हेमा ने PM मोदी, अमित शाह को कहा शुक्रिया, बोलीं- मैं दूसरी नेताओं जैसी नहीं हूं

भाजपा नेतृत्व ने बिहार में एनडीए गठबंधन को किया मजबूत
यह ध्यान दिलाए जाने पर कि बिहार में पिछली बार 22 लोकसभा सीटों पर चुनाव जीतने वाली भाजपा द्वारा इस बार पांच जीती सीट छोड़े जाने को कुछ विश्लेषक जदयू के समक्ष झुकने की बात कह रहे हैं, तो यादव ने कहा कि ऐसी कोई बात नहीं है और यह गलत धारणा है. उन्होंने कहा कि एक समय में बिहार में जनता दल ने 25 सीटों पर और भाजपा ने 15 सीटों पर भी चुनाव लड़ा था. यादव ने कहा कि भाजपा नेतृत्व ने गठबंधन को मजबूत बनाने के लिए वोट प्रतिशत, सीट के हिसाब से पार्टियों का प्रभाव और आपसी सहमति को ध्यान में रखा. उल्लेखनीय है कि बिहार में सीट बंटवारे को लेकर बने समझौते के तहत भाजपा और जदयू 17..17 सीटों पर और लोजपा छह सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेगी.

Lok Sabha Election 2019: हेमा मालिनी फिर मथुरा से ही होंगी बीजेपी उम्मीदवार, सोमवार को दाखिल करेंगी पर्चा

विपक्ष के आरोप झूठे: यादव
किसानों की समस्या, राफेल मुद्दा, बेरोजगारों की संख्या बढ़ने एवं संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर करने के कांग्रेस सहित विपक्ष के आरोपों के बारे में पूछे जाने पर यादव ने दावा किया कि विपक्ष के आरोप झूठे साबित हो चुके हैं, यह स्पष्ट है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में किसान एवं कृषि क्षेत्र के लिये अभूतपूर्व कार्य किये गए हैं. उन्होंने सिंचाई सुविधा बढ़ाने, फसल बीमा और किसानों के उत्पाद का न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाने तथा छोटे एवं सीमांत किसानों को सालाना 6000 रूपये मुहैया कराये जाने जैसे कदमों का उल्लेख किया. उन्होंने जोर दिया कि राफेल विमान सौदे पर उच्चतम न्यायालय के फैसले के बाद कांग्रेस का आरोप झूठा साबित हो चुका है.