लखनऊ: भाजपा के एक विधायक ने खुद की जान को खतरा होने का दावा करते हुए उत्तर प्रदेश विधानसभा में आज कहा कि उन्हें पर्याप्त सुरक्षा नहीं मुहैया करायी जा रही है. सत्ताधारी दल के विधायक अशोक सिंह चंदेल ने शून्यकाल में इस विषय को उठाते हुए कहा कि उन्होंने सुरक्षा मसले पर अधिकारियों से बात की थी लेकिन जिस अतिरिक्त सुरक्षा की पेशकश उन्हें की गयी, वह बहुत खर्चीली थी.

यूपी विधानसभा में गूंजा ‘समाजवादी पेंशन योजना’ का मुद्दा, सरकार के जवाब से सपा नाखुश

उन्होंने कहा कि वाराणसी में शार्प शूटर गिरफ्तार हुए. कुछ गिरफ्तारियां हमीरपुर में हुईं ओर इन सबसे खतरे का अंदाजा लगाया जा सकता है. हमीरपुर सदर से विधायक चंदेल ने कहा कि उन्हें उच्च न्यायालय के आदेश पर सुरक्षा मिली थी लेकिन पूर्व की सपा सरकार ने सुरक्षा कम कर दी थी. मामले को गंभीर बताते हुए संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने सदस्य को आश्वासन दिया कि इस संबंध में आवश्यक निर्देश जारी किये जाएंगे.

यूपी विधानसभा में विपक्ष का हंगामा, कहा- असंसदीय भाषा का प्रयोग कर रहे हैं सीएम योगी

विपक्षी ने भी पर्याप्‍त सुरक्षा मांगी
नेता प्रतिपक्ष राम गोविन्द चौधरी ने कहा कि ऐसे ही खतरे विपक्ष के कुछ सदस्यों पर भी हैं. विधानसभा अध्यक्ष हृदयनारायण दीक्षित ने सरकार को निर्देश दिया कि विधायकों पर खतरे को देखते हुए उन्हें पर्याप्त सुरक्षा मुहैया करायी जाए. चंदेल एसटीएफ द्वारा वाराणसी में 29 अगस्त को चार शार्प शूटरों की गिरफ्तारी का उल्लेख कर रहे थे.