लखनऊ: आरक्षण को लेकर देशभर में विरोध-प्रदर्शन हो रहा है. इससे केंद्र सरकार बचने के उपाय खोज रही है. लेकिन बीजेपी के अपने ही सांसद उनके लिए मुसीबत बनते जा रहे हैं. भाजपा सांसद सावित्री बाई फुले ने अपनी ही सरकार के खिलाफ आंदोलन शुरू कर दिया है. उन्होंने सरकार को चेतावनी दी कि अगर आरक्षण को खत्म करने का दुस्साहस किया गया तो भारत की धरती पर खून की नदियां बहेंगी. Also Read - सरकार द्वारा बनाए जा रहे धर्मांतरण कानून का पूरी तरह विरोध करेगी सपा: अखिलेश यादव

Also Read - West Bengal Latest News: 50 से ज्‍यादा TMC नेता बीजेपी में होंगे शामिल, भाजपा सांसद का दावा

भाजपा सांसद सावित्री बाई फुले ने रविवार को राजधानी लखनऊ स्थित काशीराम स्मृति उपवन में ‘भारतीय संविधान व आरक्षण बचाओ महारैली की. इस दौरान सावित्री ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि संविधान और आरक्षण खतरे में है. मैं सांसद रहूं या न रहूं लेकिन संविधान के साथ छेड़छाड़ नहीं होने दूंगी. आरक्षण कोई भीख नहीं बल्कि प्रतिनिधित्व का मामला है. यदि शासक वर्ग ने भारत के संविधान को बदलने और हमारे आरक्षण को खत्म करने का दुस्साहस किया तो भारत की धरती पर खून की नदियां बहेंगी. Also Read - सीएम योगी का बड़ा ऐलान, बोले- यूपी में शादी विवाह के लिए पुलिस या प्रशासनिक अनुमति की जरूरत नहीं

यूपी: SC/ST को लेकर नीतियों से नाराज़ बीजेपी सांसद केंद्र सरकार के खिलाफ करेंगी रैली

बाबा साहेब का दिया अधिकार है आरक्षण

उन्होंने कहा कि आरक्षण हमारे बाबा साहेब का दिया अधिकार है किसी और के बाप दादा या भगवान का नहीं. यह सवाल पूछे जाने पर कि आप भाजपा की सांसद हैं और अब क्या भाजपा छोड़ेंगी. साध्वी ने कहा, “मैं भारत की सांसद हूं और जब तक मेरा कार्यकाल है तब तक मैं सांसद रहूंगी.