विधानसभा चुनाव में मिले प्रचंड बहुमत के बाद बीजेपी के सामने उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री का नाम घोषित करना सबसे बड़ी चुनौती है। उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री के नामों की रेस में सतीश महाना का नाम भी शामिल किया है। महाना को अमित शाह के सबसे करीबी लोगों में गिना जाता है। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में सतीश महाना ने कानपुर की महाराजपुर सीट से पर्चा भरा था और भारी मतों से विजयी हुए। सतीश महाना को रिकॉर्ड 56 प्रतिशत वोट मिले। सतीश महाना का जन्म 14 अक्टूबर 1960 को कानपुर में हुआ था।

सतीश महाना 1991 से लगातार छठवीं बार जीते हैं। इस बार उनका मुकाबला बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशी मनोज शुक्ला और समाजवादी पार्टी की उम्मीदवार अरुणा तोमर से था। जिसमें महाना को जीत हासिल हुई। गौरतलब है कि पिछले चुनाव में महाना ने बसपा की ब्राह्मण कैंडिडेट शिखा मिश्रा को हराकर करीब 30 हजार के अंतर से जीत दर्ज की थी। यह भी पढ़ें: योग्यता के अनुसार होगा यूपी के मुख्यमंत्री का चयन: अमित शाह

सतीश महाना की छवि कानपुर में काफी अच्छी है। कानपुर में उनका नाम ससम्मान लिया जाता है। जानकारी के मुताबिक चुनाव से पहले ही कयास लगाए जा रहे थे कि अगर बीजेपी सत्ता में आई तो सतीश महाना निश्चित मंत्री बनेंगे। महाना भले ही छावनी सीट से जीते हों लेकिन वह पूरे कानपुर का नेतृत्व करते हैं। इस बार विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने 403 में 325 सीटों पर जीत हासिल की है।