गाजियाबाद: उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले से लापता विधि छात्र का शव साहिबाबाद के गिरधर एन्क्लेव में उसके पूर्व मकान मालिक के घर के तहखाने में गढ़ा हुआ पाया गया. 29 साल का पंकज सिंह बीते 9 अक्टूबर से लापता था. वह एक साइबर कैफे भी चला रहा था और बच्‍चों को पढ़ता भी था, जिससे वह अच्छा पैसा भी कमा रहा था.

पुलिस अधीक्षक मनीष मिश्रा ने बताया कि लॉ स्‍टूडेंट का पुराना मकान मालिक हरिओम उर्फ मुन्ना शनिवार से अपने परिवार के साथ फरार है और पुलिस उसकी तलाश में जुटी हुई है.

सिंह गिरधर एन्क्लेव में दूसरे किराए के आवास में चला गया था. पुलिस ने बताया कि वह एक साइबर कैफे भी चला रहा था और अच्छा लाभ कमा रहा था. इससे आरोपी हरिओम को लालच होने लगा था, जो उसी इलाके में रहता है.

उन्होंने बताया कि सिंह आरोपी के चार बच्चों समेत कई छात्रों को ट्यूशन देता था. सिंह जब लापता हो गया तो उसके छोटे भाई मनीष ने साहिबाबाद थाने में शिकायत दर्ज कराई. पुलिस ने बताया कि शुरुआती जांच में पता चला है कि हरिओम और उसकी पत्नी सिंह पर साइबर कैफे बहुत कम कीमत पर बेचने का दबाव बना रहे थे.