लखनऊ: देश में कोरोना वायरस के मामलों में अब तेजी देखने को मिल रही है. इस बीच उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अब तक प्रदेश में कुल 308 कोरोना संक्रमितों की पुष्टि की जा चुकी है. इन संक्रमितों में कुल 168 लोग ऐसे हैं जो जमात से लौटे हैं. सीएम योगी ने आगे कहा कि हमने राज्य में कुल 10 परीक्षण प्रयोगशालाएं बनाई हैं. यूपी COVID-19 में दान किए गए पैसे का उपयोग स्वास्थ्य प्रणाली को मजबूत करने के लिए किया जाएगा. इन पैसों को परीक्षण सुविधाएं और COVID-19 के अस्पताल बनाने में खर्च किया जाएगा. Also Read - सऊदी अरब ने फिर से खोलीं 90 हजार मस्जिदें, मक्का अब भी बंद

यूपी में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के मद्देनजर योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि राज्य कोरोना की टेस्टिंग पर जोर दिया जाएगा. साथ ही राज्य के हर जिले में कोरोना वायरस की टेस्टिंग के लिए लैब्स स्थापित किए जाएंगे. सीएम ने कहा कि सरकार लगातार इस मामले पर काम कर रही है. राज्य में कुल 24 मेडिकल कॉलेज हैं. 14 मेडिकल कॉलेज ऐसे हैं जहां कोरोना टेस्टिंग की सुविधा नहीं है. इन मेडिकल कॉलेजों में जांच की सुविधा हो इसके लिए दिशानिर्देश जारी कर दिए गए हैं. Also Read - उत्तराखंड कैबिनेट को क्‍वारंटाइन में भेजने की जरूरत नहीं: स्वास्थ्य सचिव

सीएम ने कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में यूपी कोविद केयर फंड की स्थापना की गई है. इस फंड का प्रयोग राज्य में कोरोना के अस्पताल बनाने व टेस्टिंग सुविधा को बढ़ाने के लिए किया जाएगा. कोरोना के खिलाफ लड़ाई में जिन उपकरड़ों की आवश्यकता है उनपर लगातार काम किया जा रहा है.