Kanpur Encounter: कुख्यात अपराधी विकास दुबे के घर के बाहर हुई मुठभेड़ में आठ पुलिसकर्मियों के शहीद होने की घटना के बाद कई गंभीर आरोपों का सामना कर रहे चौबेपुर थाने के सभी 68 पुलिसकर्मी लाइन हाजिर कर दिए गए हैं. मंगलवार शाम ये कार्रवाई हुई. एसएसपी दिनेश कुमार पी ने बड़ा एक्शन लेते हुए 68 पुलिस कर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया है. कानपुर के चौबेपुर थाने में पोस्टेड सभी सब इंस्पेक्टर, कॉन्स्टेबल और हेड कॉन्स्टेबल का पुलिस लाइंस में ट्रांसफर कर दिया गया है. जल्द ही थाने में नए पुलिस कर्मियो की तैनाती होगी. Also Read - केरल विमान हादसा: काफी चैलेंजिंग है कोझिकोड एयरपोर्ट का 'टेबलटॉप' रनवे, भारी बारिश के चलते हुआ हादसा!

बता दें कि कानपुर मुठभेड़ में आठ पुलिस कर्मियों की हत्या के बाद शक के घेरे में आए चौबेपुर के थानाध्यक्ष विनय तिवारी को पहले ही निलंबित कर दिया गया था. Also Read - केरल विमान हादसा: सामने आया घटना के बाद का वीडियो, दो टुकड़ों में बंटा दिख रहा एयर इंडिया का विमान

वहीं इस कार्रवाई के कुछ ही देर पहले डीआईजी एसटीएफ अनंत देव (Anant Dev) का तबादला कर दिया गया. उन्हें यहां से हटाकर पीएसी मुरादाबाद भेजा गया है. अनंत देव की तस्वीरें जय बाजपेई के साथ सामने आने के बाद उन पर लगातार सवाल उठाया जा रहा था. दरअसल, जय बाजपेई की तस्वीरें विकास दुबे के साथ सोशल मीडिया पर वायरल हुई थीं. इसके बाद जय बाजपेई से भी पूछताछ की गई. बता दें कि कानपुर के बिकरू गांव (Kanpur Encounter Case) का मामला सामने आने के बाद जिले में पुलिस अधिकारियों पर योगी सरकार (Yogi Government) लगातार कार्रवाई कर रही है. Also Read - Air India Express Plane Crash: पीएम मोदी ने की केरल सीएम से बात, शाह ने NDRF को दिए निर्देश; हेल्पलाइन नंबर जारी

गौरतलब है कि बृहस्पतिवार देर रात कानपुर के चौबेपुर थाना क्षेत्र के गांव बिकरू निवासी कुख्यात अपराधी विकास दुबे को उसके गांव पकड़ने पहुंची पुलिस टीम पर हमला कर दिया गया था जिसमें एक क्षेत्राधिकारी, एक थानाध्यक्ष समेत आठ पुलिस कर्मी मारे गए थे. मुठभेड़ में पांच पुलिसकर्मी, एक होमगार्ड और एक आम नागरिक घायल हुआ था. अपराधी विकास दुबे अभी भी पुलिस की पहुंच से बाहर है.