लखनऊ: उत्तर प्रदेश के आतंकवाद निरोधक बल (एटीएस) ने पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई की एजेंट के साथ गोपनीय सूचनाएं साझा करने के आरोप में बीएसएफ के एक कांस्टेबल को नोएडा से बुधवार को गिरफ्तार किया है. पुलिस का कहना है कि आईएसआई की एक महिला एजेंट कांस्टेबल अच्युतानंद मिश्र को हनीट्रैप में फंसा कर उससे गोपनीय सूचनाएं हासिल कर रही थी और उसे अपनी एजेंसी को भेज रही थी.

यूपी एटीएस ने कानपुर से पकड़ा हिजबुल का आतंकी, गणेश चतुर्थी पर किसी बड़ी घटना की फिराक में था

उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओम प्रकाश सिंह ने एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि सीमा सुरक्षा बल के कांस्टेबल अच्युतानंद मिश्रा को एटीएस टीम ने बुधवार को नोएडा सेक्टर-18 से गिरफ्तार किया. मध्यप्रदेश में रीवा के रहने वाले मिश्र को देश की गोपनीय और संवेदनशील सूचनाएं आईएसआई के साथ साझा करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. सिंह ने बताया कि आरोपी से अभी पूछताछ की जा रही है. पुलिस प्रमुख ने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ के दौरान मिश्र ने स्वीकार किया है कि उसने भारत के सामरिक महत्व के ठिकानों, आंतरिक सूचनाएं तथा बीएसएफ और सेना के प्रशिक्षण केन्द्रों आदि की सूचनाएं आईएसआई को दी हैं.

बड़ी वारदात से पहले UP ATS – वेस्ट बंगाल पुलिस का छापा, 2 बांग्लादेशी आतंकी नोएडा में गिरफ्तार

महिला एजेंट ने फेसबुक पर की कांस्टेबल से दोस्ती
उन्होंने कहा कि पूछताछ में पता चला है कि आईएसआई की एक महिला एजेंट ने कांस्टेबल से फेसबुक पर दोस्ती की थी. मिश्र ने बीएसएफ के कई महत्वपूर्ण दस्तावेज महिला के साथ साझा किये. सिंह ने बताया कि मिश्र के बैंक के खातों को भी खंगाला जा रहा है. इससे पता चलेगा कि मिश्र ने सूचनाएं साझा करने के बदले आईएसआई से धन लिया है या नहीं. उन्होंने कहा कि मिश्र के खिलाफ देशद्रोह सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया जाएगा.