लखनऊ: उत्तर प्रदेश के कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मुख्य आरोपी एवं कुख्यात अपराधी विकास दुबे के शुक्रवार को कथित मुठभेड़ में मारे जाने के बाद बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने कहा कि पूरे मामले की उच्चतम न्यायालय की निगरानी में निष्पक्ष जांच होनी चाहिए. Also Read - विकास दुबे के गांव में दबिश देने से पहले का पुलिस का ऑडियो अब हुआ वायरल, पूर्व SSP की बढ़ेगी मुसीबत

मायावती ने शुक्रवार को एक ट्वीट कर कहा, ‘कानपुर पुलिस हत्याकाण्ड के मुख्य आरोपी दुर्दान्त विकास दुबे को मध्यप्रदेश से कानपुर लाते समय आज पुलिस की गाड़ी के पलटने और उसके भागने पर यूपी पुलिस द्वारा उसे मार गिराए जाने आदि के समस्त मामलों की माननीय उच्चतम न्यायाय की निगरानी में निष्पक्ष जाँच होनी चाहिए.’ Also Read - सुप्रीम कोर्ट से गुहार- सुशांत की एक्स मैनेजर दिशा सालियन की मौत की जांच भी CBI करे

उन्होंने दूसरे ट्वीट में कहा, ‘ यह उच्च-स्तरीय जाँच इसलिए भी जरूरी है ताकि कानपुर नरसंहार में शहीद हुए आठ पुलिसकर्मियों के परिवार को सही इन्साफ मिल सके. साथ ही, पुलिस, अपराधी और राजनीतिक गठजोड़ की भी सही शिनाख्त करके उन्हें भी सख्त सजा दिलाई जा सके. Also Read - केंद्र ने CBI जांच को दी मंजूरी, SC ने कहा-सुशांत की मौत की सच्चाई सामने आनी चाहिए

ऐसे कदमों से ही उत्तर प्रदेश अपराध-मुक्त हो सकता है.’ कुख्यात अपराधी और कानपुर के बिकरू में पुलिस मुठभेड़ का आरोपी तथा पांच लाख रूपये का इनामी अपराधी विकास दुबे शुक्रवार सुबह कानपुर के भौती इलाके में पुलिस मुठभेड़ मे मारा गया . गाड़ी पलटने से एक निरीक्षक समेत चार पुलिसकर्मी भी घायल हुये है, जिसमें एक पुलिसकर्मी की हालत गंभीर है .