लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने चीन और नेपाल सीमा विवाद को लेकर भाजपा और कांग्रेस के चल रहे आरोप-प्रत्यारोप पर निशाना साधा. उन्होंने सभी राजनीतिक पार्टियों को दलगत राजनीति से ऊपर उठकर देशहित में ही सोचने की सलाह दी है. Also Read - Sachin Pilot News: अशोक गहलोत के साथ काम नहीं करना चाहते सचिन पायलट, बहुमत साबित करने की दे चुके हैं चुनौती

मायावती ने मंगलवार को ट्विटर के माध्यम से लिखा, “चीन के साथ ही दूसरे पड़ोसी देश नेपाल के साथ भी सीमा विवाद अब काफी गंभीर रूप धारण करता जा रहा है. ऐसे में देश की सभी राजीतिक पार्टियों को दलगत राजनीति से ऊपर उठकर देशहित में ही सोचना चाहिए. साथ ही, ऐसे मामलों में यदि केन्द्र सरकार सबको विश्वास में लेकर चले तो यह बेहतर होगा.” Also Read - सचिन पायलट को मनाने में जुटी कांग्रेस, विधायक दल की बैठक में शामिल होने का फिर मिला न्यौता

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा,”यह बड़े दुर्भाग्य की बात है कि कोरोना महामारी के चलते जब देश की जनता में त्राहि-त्राहि मची हुई है तब भी खासकर बीजेपी व कांग्रेस इसकी आड़ में घिनौनी राजनीति कर रहीं हैं तथा अब चीन के साथ सीमा विवाद को लेकर भी इनमें आरोप-प्रत्यारोप जारी है, जो देशहित में उचित नहीं है.”

गौरतलब है कि कोरोना वायरस संकट के दौर में सरकार और कांग्रेस के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर लगातार जारी है. इसे लेकर सियासत हर रोज आगे बढ़ रही है. कांग्रेस नेता राहुल गांधी लगातार नरेंद्र मोदी सरकार पर हमलावर हैं और जवाब में सरकार व भाजपा नेताओं की तरफ से राहुल पर निशाना साधा जा रहा है.