लखनऊ: बसपा, सपा और रालोद गठबंधन की लोकसभा चुनाव के लिए पहली संयुक्त रैली की शुरुआत आज रविवार को सहारनपुर के देवबंद से होगी. भाजपा को हराने के लिए इस महागठबंधन की पहली संयुक्त रैली देवबंद में होगी, जहां पहले चरण में 11 अप्रैल को चुनाव होने हैं. Also Read - लॉकडाउन: महिला सब-इंस्‍पेक्‍टर ने मजदूर के साथ किया कुछ ऐसा, एसपी ने किया लाइन अटैच

बहुजन समाज पार्टी की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि ‘बसपा-सपा-रालोद की पहली संयुक्त रैली सात अप्रैल रविवार को सहारनपुर जिले के देवबन्द में होगी. देवबन्द की यह रैली जामिया तिब्बिया मेडिकल कॉलेज के पास आयोजित की गई है. इस रैली को बसपा सुप्रीमो मायावती संबोधित करेंगी. समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता ने बताया कि देवबंद की रैली में पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव मौजूद रहेंगे. यह पहली बार होगा कि गठबंधन की तीनों पार्टियों के प्रमुख नेता एक ही मंच पर होंगे. Also Read - पूर्व केंद्रीय मंत्री व सपा के दिग्गज नेता बेनी प्रसाद वर्मा का लखनऊ में निधन

Lok Sabha election 2019: 275 सीटों के साथ देश में फिर बनेगी मोदी सरकार, सर्वे में दावा Also Read - मध्‍य प्रदेश विधानसभा में शिवराज सिंह चौहान ने विपक्ष की गैरमौजूदगी में विश्‍वास मत हासिल किया

आज से होगी महागठबंधन की संयुक्‍त रैलियों की शुरुआत
रालोद प्रवक्ता अनिल दुबे ने बताया कि पार्टी अध्यक्ष अजित सिंह और उपाध्यक्ष जयंत चौधरी आज रविवार को देवबंद में रैली को संबोधित करेंगे. बसपा, सपा, रालोद की संयुक्त रैलियों की शुरूआत रविवार से हो रही है और आने वाले दिनों में ऐसी कई रैलिया होंगी. सपा प्रवक्ता के मुताबिक सपा-बसपा-रालोद के गठबंधन से राजनीति में एक नई लहर पैदा हुई है.

Lok Sabha election 2019: पश्चिमी यूपी में BJP ने प्रचार में झोंकी ताकत, विपक्षी हैं सुस्त 

11 अप्रैल को होगा पहले चरण का चुनाव
अखिलश यादव का मानना है कि विचारधारा पर आधारित इस गठबंधन के प्रति जनता में बढ़ते रूझान से भाजपा खेमे में घबराहट और बौखलाहट है. उन्होंने कहा कि जनता हालांकि अब भाजपा के बहकावे में आने वाली नहीं है. उसे भाजपा का पूरा चरित्र मालूम हो गया है इसलिए अब 2019 के चुनाव में नया प्रधानमंत्री और नई सरकार चुनने के दृढ़ संकल्प से मतदाता को कोई भी ताकत डिगा नहीं सकती है. गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में लोकसभा की 80 सीटों पर हो रहे आमचुनाव में बी.एस.पी.-समाजवादी पार्टी व आर.एल.डी. पहली बार गठबंधन बनाकर चुनाव लड़ रही है.

Lok Sabha Election 2019: यूपी में चुनाव से पहले गठबंधन को झटका, कई नेता BJP में शामिल