नई दिल्लीः लॉकडाउन के बीच लगातार प्रवासी मजदूरों का पलायन जारी है. इस बीच मजदूरों की कंडीशन को लेकर बसपा सुप्रीमों मायावती ने एक बार फिर से भाजपा और कांग्रेस के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. मायावती ने कहा कि आज देश के श्रमिकों को जो कुछ सहन करना पड़ा रहा है उसकी जिसका जिम्मेदार सिर्फ एक पार्टी ही नहीं है बल्कि इसके कांग्रेस और भाजपा दोनों ही समान रूप से जिम्मेदार हैं. Also Read - USA-China Trade War: ट्रंप ने चीन के साथ दूसरे चरण के व्यापार सौदे की संभावना को किया खारिज , कही ये बड़ी बात

मयावती ने कहा जहां एक ओर देशभर में मजदूर और गरीब लोग अपने घर जाने के लिए परेशान हैं तो वहीं तमाम राजनीतिक पार्टियां अपने स्वार्थ को सिद्ध करने के लिए घिनौनी राजनीति करने में व्यस्त हैं. Also Read - India Coronavirus situation live Update: कोरोना से मचा कोहराम, टूटे सारे रिकॉर्ड, 24 घंटे में सामने आए सर्वाधिक 27 हजार से अधिक मामले, पढें रिपोर्ट्स

मायावती ने कहा कि केंद्र सरकार को मजदूरों के रोजगार के लिए पहले ही ध्यान देना चाहिए था. अगर उन्हें अपने राज्यों या शहरों पर रोजगार उपलब्ध होता तो वो इतनी दूर कमाई के लिए जाते ही नहीं. और अब मुश्किल हालात में उन्हें सैकड़ों किलोमीटर पैदल चलना पड़ रहा है.

उन्होंने कहा कि पहले तो उन्हें सरकार की तरफ से निराशा हाथ लगी और अब उन्हें वहां भी भरोसा नहीं है जहां वे कुछ पैसों के लिए घंटों की मेहनत करते थे. मायावती ने कहा कि बहुजन समाजवादी पार्टी ने हमेशा से ही मजदूर और कमजोर वर्ग के लोगों के उत्था के लिए काम किया और हमेशा उनकी भलाई के ही बारे में सोचा है.

बसपा सुप्रीमों ने कहा कि मजदूर देश की प्रगति का एक अहम हिस्सा है और आज जब वह मुश्किल में है तो भाजपा और कांग्रेस जैसी राजनीतिक पार्टियां अपने स्वार्थ की रोटी सेंक रही हैं.