लखनऊ: बसपा सुप्रीमो मायावती ने कांग्रेस पार्टी के चुनाव घोषणा पत्र को छलावा बताया है और भाजपा नेताओं पर जातिवादी और अनर्गल बयानबाजी का आरोप लगाया है. बता दें कि कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव के लिए मंगलवार को अपना घोषणापत्र जारी किया था, जिसमें गरीबों को न्यूनतम आय योजना (न्याय) के तहत सालाना 72 हजार रुपये देने और किसानों की स्थिति सुधारने के लिए अलग बजट के वादे के साथ जम्मू-कश्मीर में आफ्सपा की समीक्षा एवं देशद्रोह और मानहानि से जुड़ी धाराओं को खत्म करने की बात की गई है.

 

बसपा नेता ने बुधवार को अपने ट्वीट में कहा ‘लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस का घोषणापत्र पूर्व के उनके वादों की तरह ही दिखावा और छलावा ज्यादा लगता है. कांग्रेस की लगातार वादाखिलाफी का ही परिणाम है कि उसके वादों के प्रति जनता में विश्वास नहीं है. वैसे इस मामले में कांग्रेस तथा भाजपा में ज्यादा फर्क नहीं है.

Lok Sabha election 2019: पश्चिमी यूपी में BJP ने प्रचार में झोंकी ताकत, विपक्षी हैं सुस्त

उन्होंने अपने दूसरे ट्वीट में कहा कि भाजपा के नेता बसपा-सपा-रालोद गठबंधन के हाथों हार के डर से इतने ज्यादा भयभीत हैं कि वे मुद्दों के बजाए गठबंधन और इसके शीर्ष नेताओं के खिलाफ जातिवादी और अनर्गल बयानबाजी कर रहे हैं. इनके उकसावे में नहीं आना है और चुनाव में अच्छा रिजल्ट दिखाकर इन्हें मुंहतोड़ जवाब देना है.

राफेल डील पर छपी किताब तो विमोचन से पहले उठा ले गया चुनाव आयोग, बाद में दी अनुमति