लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने दिल्ली में पड़ोसी राज्यों से आए किसानों पर मंगलवार को हुए लाठीचार्ज की निंदा करते हुए कहा कि यह भाजपा सरकार की निरंकुशता की पराकाष्ठा है, जिसका खामियाजा भुगतने के लिए उसे तैयार रहना चाहिए.

दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर किसानों और पुलिस में झड़प, लाठीचार्ज, आंसू गैस के गोले छोड़े गए

मायावती ने अपने बयान में कहा कि किसानों की आय दोगुणा करके उनके अच्छे दिन लाने का वायदा करने वाली भाजपा सरकार निहत्थे किसानों पर पुलिस से लाठियां बरसवा रही है, उन पर आंसूगैस के गोले आदि दगवाकर जुल्म कर रही है, जबकि किसान समाज के लोग गांधी जयंती के दिन गांधी समाधि स्थल पर जाकर केवल अपना विरोध प्रदर्शन करने वाले थे. बसपा प्रमुख ने कहा कि वैसे तो भाजपा की केंद्र व राज्य सरकारों की गरीब व किसान विरोधी नीतियों से समाज का हर वर्ग काफी पीड़ित है, खासकर किसान वर्ग के लोग इस सरकार में कुछ ज्यादा ही संकट झेल रहे हैं.

किसानों पर लाठीचार्ज, राहुल गांधी बोले- पिटाई से शुरू हुआ BJP का दो-वर्षीय गांधी जयंती समारोह

भाजपा सरकारों द्वारा किसानों की कर्जमाफी की घोषणा भी हवा-हवाई
उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकारों ने अगर किसानों की समस्याओं का सही समाधान किया होता तो खासकर यूपी, पंजाब व हरियाणा के किसानों को आज दिल्ली में पुलिस की लाठी का शिकार होकर मुसीबत व जिल्लत नहीं झेलनी पड़ती. मायावती ने कहा कि इससे पहले भी मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र आदि राज्यों में किसानों पर पुलिस बर्बरता व ज्यादती की घटनाएं समाज के उद्वेलित कर चुकी हैं. इतना ही नहीं, बल्कि भाजपा सरकारों द्वारा किसानों की कर्जमाफी की घोषणा भी इनकी अन्य वादों व घोषणाओं की तरह हवा-हवाई ही साबित हुई है.