लखनऊ: बसपा सुप्रीमो मायावती ने सोमवार को कहा कि संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) पर चर्चा के लिए कांग्रेस द्वारा बुलाई गई विपक्षी पार्टियों की बैठक में बसपा शामिल नहीं होगी. Also Read - कोरोना के बीच CBSE कराएगा एग्जाम, प्रियंका गांधी ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री से कहा- ये चौंकाने वाला फैसला, परीक्षाएं रद्द हों

मायावती ने ट्वीट किया कि उनकी पार्टी सीएए और एनआरसी के खिलाफ है, लेकिन बैठक में शामिल होने से राजस्थान में उनकी पार्टी के कार्यकर्ता हतोत्साहित होंगे जहां कांग्रेस ने उनकी पार्टी में तोड़फोड़ की है. Also Read - Assam Assembly Election 2021: चुनाव के नतीजों से पहले ही कांग्रेस और AIUDF ने अपने उम्मीदवारों को भेजा राजस्थान

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि जैसा कि सबको पता है कि राजस्थान में कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार को बसपा द्वारा बाहर से समर्थन दिए जाने के बावजूद दूसरी बार ऐसा हुआ कि बसपा विधायकों को कांग्रेस ने अपनी पार्टी में शामिल करने का प्रयास किया, जो पूरी तरह गलत है. Also Read - बंगाल को पहले कांग्रेस ने रौंदा, कम्युनिस्टों ने लूटा, अब TMC की गुंडागर्दी से बदहाल है: रैली में बोले CM योगी

मायावती ने कहा कि ऐसी स्थिति में कांग्रेस के नेतृत्व में आज बुलाई गई विपक्षी पार्टियों की बैठक में बसपा के शामिल होने से राजस्थान में उसके कार्यकर्ता हतोत्साहित होंगे इसलिए बसपा बैठक में शामिल नहीं होगी.