ग्रेटर नोएडा: ग्रेटर नोएडा के शाहबेरी गांव में मंगलवार रात निर्माणाधीन दो इमारतों के ढहने के मामले में ग्रेटर नोएडा के विधायक पंकज सिंह ने कहा कि अवैध रूप से निर्माण को रोका जाना चाहिए. इस पर कड़ा एक्शन लिया जाए. उन्होंने कहा कि जिन अधिकारियों ने अवैध निर्माण रुकवाने में लापरवाही बरती है, उन पर कार्रवाई की जाए. विधायक ने कहा कि बिल्डिंग गिरने के मामले में जो लोग जिम्मेदार हैं, उन्हें नहीं छोड़ा जाए. गृहमंत्री राजनाथ के बेटे पंकज सिंह ने मामले की जांच की भी मांग की है. Also Read - Bhiwandi Building Accident: हादसे में हल्ली गांव के एक ही परिवार के छह सदस्यों की मौत, पसरा मातम

दो इमारतें ढही, बचाव कार्य जारी

बता दें कि ग्रेटर नोएडा के शाहबेरी गांव में मंगलवार रात निर्माणाधीन दो इमारतों के ढह गईं. इससे हुज्ये हादसे में तीन लोगों की मौत हो गई है, जबकि कई और लोग अब भी मलबे में दबे हुए हैं. मलबे में दबे लोगों को निकालने के लिए एनडीआरएफ की चार टीमें बचाव कार्य में जुटी हुई हैं. मलबे से तीन लोगों के शव बाहर निकाल लिए गए हैं. माना जा रहा है कि इस मलबे में 50 के करीब लोग दबे हुए हैं.

सीएम ने ली घटना की जानकारी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी इस घटना की जानकारी ली और जरूरी निर्देश दिए हैं. उन्होंने राहत कार्यों में तेजी लाने को कहा है. इस मामले में पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर लिया है. इमारत में 18 परिवारों के लोग फंसे हुए हैं. आईजी मेरठ रेंज रामकुमार ने बताया कि इस मामले में अब तक तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है.

ग्रेटर नोएडा हादसाः अब तक तीन शव निकाले गए, एनडीआरएफ की 4 टीमें राहत कार्य में जुटीं

अवैध जमीन पर बन रही थी इमारतें

कहा जा रहा है कि ये दोनों इमारतें अवैध जमीन पर बन रही थीं. इसमें निर्माण संबंधी मानकों की अनदेखी की गई. ये गांव बिसरख पुलिस स्टेशन के अंतर्गत आता है. कहा जा रहा है कि अवैध निर्माण के खिलाफ पहले भी शिकायत की गई थी. निर्माण में घटिया सामग्री का इस्तेमाल किया गया, जिस कारण यह घटना घटी. एनडीआरएफ की टीम मलबे को हाथ से हटा रही थी. काफी देर बार मलबे को हटाने के लिए मशीनें लाई गई. सुबह करीब 8 बजे जेसीबी मशीनें बुलाई गईं. एक निर्माणाधीन 6 मंजिला बिल्डिंग दूसरी बिल्डिंग पर गिर गई. दोनों इमारतों में लोग मौजूद थे. निर्माणाधीन इमारत में कई मजदूर सोए हुए थे. घटना के बाद मौके पर भारी भीड़ जमा हो गई. इसके अलावा भारी पुलिस दल भी मौके पर मौजूद था.