उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में जहरीली शराब पीने से 4 लोगों की मौत हो गई व 16 लोगों की हालत खराब हने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा है. इस मामले में थाना पुलिस की लापरवाही पर थाना प्रभारी द्वारा कड़ा एक्शन लिया गया था. थाना प्रभारी दिक्षित कुमार त्यागी ने हलका इंचार्ज और चौकी प्रभारी को निलंबित कर दिया है. बता दें कि इस मामले में 3 लोगों को हिसारत में भी लिया गया है.Also Read - UP Assembly Election 2022: अमित शाह ने टीवी पर अखिलेश यादव को भाषण देते हुए देखा, फिर यूपी आकर बोले...

यह घटना सिकंदराबाद कोतवाली के गांव जीतगढ़ी की है जहां जहरीली शराब के सेवन से कई लोग बीमार हो गए. इस दौरान आज 4 लोगों की मौत जहरीली शराब के पीने से हुई वहीं 16 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. गांववालों का आरोप है कि आबकारी विभाग की मिली भगत से गांव में जहरीली शराब बेची जा रही थी. Also Read - Akhilesh Yadav on Dynasty Politics: वंशवाद की राजनीति पर बोले- एक परिवार वाला ही समझ सकता है परिवार के हर सदस्य का दुख-दर्द

बता दें कि इस घटना के बाद से ही शराब माफिया कुलदीप फरार है जो कि अबतक पुलिस के हाथ नहीं आ सका है. इस बाबत जिलाधिकारी रविंद्र कुमार ने कहा कि जहरीली शराब के सेवन से 4 लोगों की मौत हो गई वहीं 16 लोगों की हालत खराब है जिन्हें अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है. हालांकि अभी मृतकों के शऱीर को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया है, ताकि मौत के अशल वजहों का पता लगाया जा सके. Also Read - Bihar विधानसभा परिसर में मिलीं शराब की बोतलें, नीतीश कुमार ने तेजस्‍वी यादव के सवाल का दिया ये जवाब

बता दें कि इस घटना के बाद यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का आदेश दिया है. उन्होंने दोषियों के खिलाफ NSA के तहत कार्रवाई करने का निर्देश दिया है. वहीं अधिकारियों को कहा है कि वे घटनास्थल पर पहुंचे और बेहतर इलाज सुनिश्चित करें.