नई दिल्ली: बुलंदशहर में पिछले महीने भीड़ की हिंसा के एक मुख्य संदिग्ध और भारतीय जनता युवा मोर्चा के सदस्य शिखर अग्रवाल को गुरुवार तड़के गिरफ्तार कर लिया गया. पुलिस ने यह जानकारी दी. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि बुलंदशहर पुलिस ने हापुड़ जिले से अग्रवाल को गिरफ्तार किया. अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (बुलंदशहर सिटी) अतुल कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि उसे गुरुवार सुबह गिरफ्तार किया गया. हम उससे पूछताछ कर रहे हैं और दिन में उसे स्थानीय अदालत में पेश किया जाएगा.

बुलंदशहर में तीन दिसंबर को हुई हिंसा में गोली लगने के कारण पुलिस अधिकारी सुबोध कुमार सिंह (44) मारे गए थे. इस हिंसा में एक आम नागरिक सुमीत कुमार (20) की भी मौत हो गई थी. स्याना इलाके के चिंगरावठी क्षेत्र में कथित गोकशी को लेकर उग्र भीड़ की हिंसा को लेकर स्याना पुलिस थाने में 27 नामजद और 50 से 60 अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई थी.

पुलिस ने तीन जनवरी को बजरंग दल के स्थानीय नेता योगेश राज को गिरफ्तार किया था. वह भी मामले का एक मुख्य संदिग्ध था. योगेश राज की एक शिकायत पर पुलिस ने गोहत्या को लेकर अलग से एक केस दर्ज किया था. पुलिस ने बताया कि हिंसा के सिलसिले में अब तक 35 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

इससे पहले बुलंदशहर हिंसा के मुख्य आरोपी योगेश राज को पुलिस ने गिरफ्तार किया था. पुलिस ने बताया था कि बजरंग दल का स्थानीय संयोजक योगेश राज पिछले साल तीन दिसंबर को स्याना तहसील में हुई हिंसा के बाद से फरार था. बजरंग दल ने कहा कि वह राज के साथ है और उसे कानूनी सहायता उपलब्ध कराएगा. बजरंग दल की पश्चिमी उत्तर प्रदेश इकाई के सह संयोजक प्रवीण भाटी ने कहा था कि पुलिस द्वारा आरोपपत्र दायर करने के बाद ही हमें पता चलेगा कि उसके खिलाफ क्या आरोप लगाए गए हैं.

(इनपुट-भाषा)