लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुलंदशहर की घटना पर निर्देश दिया कि इस घटना की गंभीरता से जांच कर गोकशी में संलिप्त सभी व्यक्तियों के विरूद्ध कठोर कार्रवाई की जाए. साथ ही मुख्यमंत्री ने मृतक सुमित के परिवार जनों को मुख्यमंत्री राहत कोष से 10 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की.

 

राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने प्रदेश के मुख्य सचिव, पुलिस महानिदेशक, प्रमुख सचिव गृह, खुफिया विभाग के अपर पुलिस महानिदेशक के साथ बैठक की. उन्होंने इस गंभीर घटना की समीक्षा कर निर्देश दिया कि इस घटना की गंभीरता से जाँच कर गोकशी में संलिप्त सभी व्यक्तियों के विरूद्ध कठोर कार्रवाई की जाए. घटना एक बड़े षडयंत्र का हिस्सा है इसलिए गोकशी से संबंध रखने वाले प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष सभी को समयबद्ध रूप से गिरफ़्तार किया जाए. प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने मृतक सुमित के परिवार जनों को मुख्यमंत्री राहत कोष से 10 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की.

बुलंदशहर हिंसा: बजरंग दल से संबंधित मुख्‍य आरोपी फरार, दो मौतों के बाद राजनीति शुरू

माहौल खराब करने वालों के खिलाफ अभियान चलाने को कहा
उल्लेखनीय है कि 19 मार्च 2017 से अवैध बूचड़खानों को बंद कर दिया गया है. इस घटनाक्रम में सभी जिलाधिकारियों और पुलिस अधीक्षकों को यह निर्देश दिया गया है कि ज़िले स्तर पर ऐसे अवैध कार्य ना हो, यह सुनिश्चित करना उनकी सामूहिक ज़िम्मेदारी होगी और मुख्य सचिव, पुलिस महानिदेशक यह सुनिश्चित करें कि इस आदेश का ज़िले स्तर पर अनुपालन किया जाए. यह भी निर्देश दिया गया कि एक अभियान चलाकर जो तत्व माहौल ख़राब कर रहे हैं उनको बेनक़ाब कर इस तरह की साज़िश रचने वालों के विरुद्ध प्रभावी कार्रवाई की जाए.

Bulandshahr Violence Updates: 87 लोगों पर FIR, इंस्पेक्टर सुबोध को छोड़कर भाग गए थे पुलिसवाले

शहीद इंस्पेक्टर के परिवार को एक दिन का वेतन देंगे मथुरा के पुलिसकर्मी
उत्तर प्रदेश में बुलंदशहर के स्याना में गोकशी की घटना को लेकर हुई हिंसा में उन्मादी भीड़ के हाथों मारे गए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के परिजन को मथुरा के पुलिसकर्मी अपना एक दिन का वेतन सहायता स्वरूप प्रदान करेंगे. यह जानकारी मथुरा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बबलू कुमार ने दी है. गौरतलब है कि सुबोध कुमार सिंह कुछ महीने पहले तक मथुरा के वृन्दावन कोतवाली सहित कई थानों में रहे थे. स्थानीय पुलिस अधिकारियों के अनुसार वह बहुत जांबाज और मिलनसार अधिकारी थे. एसएसपी के अनुसार, मथुरा के पुलिसकर्मियों ने उनकी शहादत को नमन करते हुए उनके परिवार के सदस्यों की आर्थिक रूप से मदद करने के लिए अपने वेतन में से एक दिन का वेतन उन्हें देने का निर्णय लिया है.

बुलंदशहर हिंसा: शहीद पुलिस अफसर के परिवार को 50 लाख रुपये व सरकारी नौकरी देने का ऐलान

शहीद पुलिसकर्मी के परिवार को एक करोड़ रुपये मुआवजे की मांग
आम आदमी पार्टी (आप) ने उत्तर प्रदेश सरकार से बुलंदशहर जिले में एक दिन पहले हुई हिंसा में मारे गए एक पुलिस अधिकारी के परिवार को एक करोड़ रुपये का मुआवजा देने की मांग की. आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री (अरविंद केजरीवाल) ने सुबोध (कुमार) सिंह के बेटों से बात की और उन्हें हर संभव सहायता का आश्वासन दिया. वहीं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ परिवारवालों को एक फोनकॉल भी नहीं कर पाए हैं. वरिष्ठ नेता सिंह एटा जिले में स्थित पुलिस अधिकारी के पैतृक आवास पर उनके परिवारवालों से मिले.