लखनऊ: बुलंदशहर हिंसा की मुख्‍य वजह बनी जिले के महाव की गोकशी की घटना का यूपी पुलिस ने खुलासा करने का दावा किया है. पुलिस ने तीन आरोपियों नदीम, रहीश और काला कुरैशी को गिरफ्तार किया है. पुलिस का कहना है कि ये आरोपी पहले गायों को खोजकर उन्‍हें गोली मारते थे, फिर जब वे घायल हो जाते थे तो उन्‍हें काटकर उठा ले जाते थे. पुलिस ने आरोपियों के पास से एक लाइसेंसी बंदूक, कुल्‍हाड़ी, छुरे व एक खुली जीत सहित अन्‍य सामान बरामद किया है.

बता दें कि बुलंदशहर जिले के स्‍याना में गोकशी की घटना के बाद हिंसा भड़क गई थी, जिसमें स्‍याना कोतवाल सुबोध कुमार सिंह और एक युवक सुमित की गोली लगने से मौत हो गई थी. पुलिस ने मामले में बजरंग दल के जिला संयोजक योगेश राज समेत सात लोगों को नामजद करते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई थी. अतुल श्रीवास्तव, एसपी सिटी, स्‍याना ने बताया कि पुलिस ने संदिग्‍ध लोगों में से तीन को पकड़ लिया था, जबकि एक आरोपी भाग निकला. पकड़े गए आरोपियों की पहचान स्‍याना के मोहल्‍ला चौधरियान का नदीम, मोहल्‍ला अकबराबाद का रहीश और मोहल्‍ला पूडावाला का काला कुरैशी के रूप में हुई. पुलिस ने आरोपियों के पास से लाइसेंसी बंदूक, गंडासा, कुल्‍हाड़ी, रस्‍सा आदि सामान बरामद किया है. पुलिस की पूछताछ में आरोपियों ने गोकशी की घटना को अंजाम देने की बात कबूल की है.

बुलंदशहर हिंसा: यूपी सरकार के कैबिनेट मंत्री ओपी राजभर बोले- योगी के लोग ही कर रहे हमला

पुलिस ने दो वांछितों को पकड़ा
उत्तर पदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स ने बुलंदशहर जिले के स्याना थानाक्षेत्र में हुई हिंसा के सिलसिले में दो वांछित आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया. एसटीएफ प्रवक्ता ने बताया कि सचिन उर्फ कोबरा एवं जानी चौधरी तीन दिसंबर को स्याना में हुई हिंसा के सिलसिले में वांछित थे. प्रवक्ता ने बताया कि मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर एसटीएफ नोएडा की टीम ने सचिन और जानी को स्याना थानाक्षेत्र के गठिया बादशाहपुर बस स्टैण्ड से गिरफ्तार किया. उल्लेखनीय है कि बुलंदशहर हिंसा में पुलिस निरीक्षक सुबोध कुमार सिंह तथा एक युवक सुमित की मौत हो गयी थी.