लखनऊ: यूपी सरकार में भाजपा की सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने भाजपा से तल्ख होते रिश्ते के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम में शरीक नहीं होने की घोषणा की है. उनका कहना है कि वह गाजीपुर से विधायक हैं और राज्य सरकार के अंग हैं. गाजीपुर में इसके पहले भी प्रधानमंत्री मोदी का कार्यक्रम हुआ और पूर्वांचल में दौरा हुआ, लेकिन इन कार्यक्रमों में उनको कभी नहीं आमंत्रित किया गया. Also Read - Covid-19 In UP: पत्नी-बेटी को हुआ कोरोना, DSP ने मांगी देखभाल को छुट्टी, नहीं मिली तो छोड़ी नौकरी

Also Read - Uttar Pradesh: योगी सरकार का दावा, अल्पसंख्यकों के लिए खोले खजाने, जारी किए यह आंकड़े

उत्‍तर प्रदेश की योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री ओपी राजभर अपने विवादित बयानों को लेकर आए दिन चर्चा में रहते हैं. योगी सरकार में दिव्यांग जन सशक्तिकरण मंत्री राजभर ने शनिवार को बताया कि वह गाजीपुर में 29 दिसम्बर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम में सम्मिलित नहीं होंगे. प्रधानमंत्री मोदी का गाजीपुर में महाराज सुहेलदेव की स्मृति में डाक टिकट जारी करने का कार्यक्रम प्रस्तावित है. उन्होंने कहा कि वह गाजीपुर से विधायक हैं और राज्य सरकार के अंग हैं. गाजीपुर में इसके पहले भी प्रधानमंत्री मोदी का कार्यक्रम हुआ और पूर्वांचल में दौरा हुआ, लेकिन इन कार्यक्रमों में उनको कभी भी आमंत्रित नहीं किया गया. Also Read - यूपी में 5, 500 करोड़ का निवेश करेगी स्वीडिश कंपनी IKEA, रोजगार सृजन की दिशा में योगी सरकार का बड़ा कदम

लोकसभा चुनाव 2019: दक्षिण-पूर्वोत्तर की 122 सीटों के लिए BJP का महाप्‍लान, PM मोदी करेंगे ये काम

अकेले लोकसभा चुनाव लड़ने की तैयारी में सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी

लोकसभा चुनाव को लेकर पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि भाजपा से सीट को लेकर समझौता नहीं हुआ तो उनका दल उत्तर प्रदेश में 80 व बिहार की 16 सीट पर अकेले ही चुनाव मैदान में उतरेगा. वह अकेले चुनाव लड़ने को लेकर तैयारी कर रहे हैं. राजभर ने कहा कि मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ व राजस्थान में भाजपा को एससी/एसटी कानून व लम्बे समय तक सरकार में रहने का खामियाजा भुगतना पड़ा है.