लखनऊ: यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्‍यक्ष ओमप्रकाश राजभर अपने बयानों के चलते फिर चर्चा में आ गए हैं. इस बार उन्‍होंने फिर से योगी सरकार पर वार करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार और अधिकारियों पर जातिवाद हावी हो गया है. ऐसे में नीची जाति का होने के कारण कोई अधिकारी उन्‍हें महत्‍व ही नहीं दे रहा है. ऐसा बयान उन्‍होंने बहराइच में अधिकारियों की अनदेखी के बाद दिया है. शराब बंदी को लेकर उन्‍होंने कहा कि जितना धन राजनीतिक पार्टियां महीने भर में खर्च करती हैं, उतने की तो लोग यहां पर रोज शराब पी जाते हैं. Also Read - हाथरस गैंगरेप की घटना से नाराज बॉलीवुड ने मांगा न्याय, इन एक्‍टर-एक्‍ट्रेसेस ने उठाई आवाज

Also Read - MP समेत 11 राज्‍यों की 56 विधानसभा और एक लोकसभा सीट के लिए उपचुनाव का ऐलान, देखें पूरी डिटेल

  Also Read - कृषि कानूनों के खिलाफ यूपी की सड़कों पर उतरे कांग्रेस कार्यकर्ता, प्रदेश अध्यक्ष लल्लू गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्‍यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने सरकार और अधिकारियों पर जातिवाद हावी होने का आरोप लगाया. कहा कि नीची जाति का होने के कारण उन्हें अधिकारी महत्व नहीं दे रहे हैं. योगी सरकार के खिलाफ पहले से ही बागी तेवर अपनाए राजभर एक मांगलिक कार्यक्रम से लौटकर गुरुवार शाम जब बहराइच के पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस पहुंचे तो उन्हें अपने प्रोटोकॉल में कोई अधिकारी नहीं दिखा. नाराज कैबिनेट मंत्री ने अपनी ही सरकार और अधिकारियों के खिलाफ बयान दे दिया.

इलाहाबाद: अधिवक्‍ता की हत्‍या के विरोध में हाईकोर्ट बार एसोसिएशन की हड़ताल, हटाए गए एसएसपी आकाश कुलहरि

योगी सरकार में जातिवाद हावी

राजभर ने कहा कि योगी सरकार में जातिवाद हावी है. सभी बड़े नेताओं के रिश्तेदार प्रदेश में ऊंचे पदों पर तैनात हैं. शराबबंदी के सवाल पर राजभर ने कहा कि प्रदेश में शराबबंदी बहुत जरूरी है और ‘मैं सदन में कई बार शराबबंदी को लेकर आवाज उठा चुका हूं. मगर मेरी आवाज नहीं सुनी जा रही. उन्होंने कहा कि जितना धन राजनीतिक पार्टियां महीने भर में खर्च करती हैं उतने की तो लोग यहां एक दिन में शराब पी जाते हैं.