लखनऊ: उत्तर प्रदेश में हिंदू युवा वाहिनी ने रविवार को फिल्म एक्टर नवाजुद्दीन सिद्दीकी के भाई अयाजुद्दीन सिद्दीकी के भाई के ‘धार्मिक भावनाओं को ठेस’ पहुंचाने का केस दर्ज करवाया है, जबकि सिद्दीकी ने सोशल मीडिया पर भगवान शिव की अपमानजनक फोटो पोस्ट करने का विरोध किया था. एक सीनियर पुलिस अधिकारी ने भी अयाजुद्दीन के इस मामले में निर्दोष और अपमानजनक पोस्ट का विरोध करने की पुष्टि की है.

केस दर्ज होने के बाद अयाजुद्दीन ने कहा, एक व्यक्ति ने भगवान शिव का अपमानजनक फोटो पोस्ट की थी, मैंने उसका विरोध किया और लिखा कि तुम्हें ऐसी पोस्ट शेयर नहीं करना चाहिए कि इससे किसी की धार्मिक भावनाएं आहत हो. इसके बावजूद भी मेरे खिलाफ केस दर्ज कर दिया गया. आरोपों की जांच होनी चाहिए.”

दरअसल, हिंदू युवा वाहिनी के एक कार्यकर्ता ने रविवार को मुजफ्फरनगर के बुधाना पुलिस स्टेशन में धार्मिक भावनाओं को आहत करने का आरोप लगाते हुए अयाजुद्दीन सिद्दीकी के खिलाफ केस दर्ज कराया था. मुजफ्फरनगर में तैनात डिप्टी एसपी हरीराम यादव के मुताबिक, पुलिस ने अयाजुद्दीन के खिलाफ आईपीसी की धारा 153ए के तहत मामला दर्ज किया था. ये एफआईआर तब की गई जब एक कार्यकर्ता थाने में उनके खिलाफ केस दर्ज कराने आया.

डिप्टी एसपी यादव के मुताबिक, ऐसा लगता है कि अयाजुद्दीन का किसी को चोट पहुंचाने का कोई इरादा नहीं है. उन्होंने ऐसा कुछ भी अपमानजनक नहीं लिखा. उन्होंने जो कुछ लिखा वह अपमानजन फोटो और पोस्ट को खारिज करने के लिए लिखा था, जो सोशल मीडिया में शेयर किया गया था. पुलिस सूत्रों के मुताबिक एक स्थानीय हिंदू युवा वाहिनी भरत ठाकुर ने अयाजुद्दीन के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी. (इनपुट- एजेंसी)