लखनऊ. 30 जनवरी के दिन को एक तरफ जहां पूरा देश राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि यानी शहीद दिवस के तौर पर मनाता है. वहीं कुछ विवादित नेता और संगठन इस दिन बापू के हत्यारे नाथूराम गोडसे को याद करते हैं. इस साल भी बुधवार का दिन बापू के शहीद दिवस के रूप में मनाया गया. सुबह में ही पीएम नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद समेत विभिन्न राजनीतिक दलों ने बापू की समाधि राजघाट पर जाकर राष्ट्रपिता को श्रद्धा सुमन अर्पित किए. वहीं, हिंदू महासभा नाम के एक संगठन की महिला कार्यकर्ता के नेतृत्व में कुछ लोगों ने बापू के पुतले को गोली मारकर नाथूराम गोडसे को अपनी तरफ से श्रद्धांजलि दी. बुधवार को पूरे दिन हिंदू महासभा के इन कार्यकर्ताओं का यह वीभत्स कारनामा, इंटरनेट के जरिए देशभर में घूमता रहा. उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में अंजाम दिए गए इस शर्मनाक कृत्य पर आखिरकार पुलिस ने संज्ञान लिया और वायरल वीडियो के आधार पर मामला दर्ज किया.

अलीगढ़ के नौरंगाबाद इलाके में महात्मा गांधी के पुतले पर एयर पिस्टल से फायरिंग करने के मामले में हिन्दू महासभा की महिला नेता समेत 13 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. अलीगढ़ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश कुलहरी ने बताया कि बुधवार को गांधी की पुण्यतिथि के अवसर पर नौरंगाबाद इलाके के एक घर में हिन्दू महासभा के कार्यकर्ताओं ने गांधी के पुतले पर एयर पिस्टल से गोलियां दागी. इसका वीडियो वायरल हो गया.

वीडियो वायरल होने के बाद हिन्दू महासभा की महिला नेता पूजा शकुन पांडेय समेत 13 कार्यकर्ताओं के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है, जबकि पुलिस आरोपियों की धर पकड़ के लिए छापेमारी कर रही है. उत्तर प्रदेश के मेरठ में भी हिंदू महासभा के सदस्यों द्वारा आज के दिन को शौर्य दिवस के रूप में मनाए जाने की खबर है. महासभा के कार्यकर्ताओं ने इस मौके पर पहले तो नाथूराम गोडसे की प्रतिमा पर फूल-माला पहनाई गई. बाद में वीर सावरकर को नाथूराम गोडसे का राजनीतिक गुरु बताते हुए उन्हें भारत रत्न देने की मांग भी की गई. गौरतलब है कि महात्मा गांधी की हत्या करने के अपराध में गोडसे को 15 नवंबर 1949 को फांसी दे दी गई थी.

(इनपुट – एजेंसी)