लखनऊ: समाजवादी पार्टी (सपा) के मुखिया अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार देश की शीर्ष जांच एजेंसी को बर्बाद करने पर तुली है. इससे पहले इन लोगों ने बैकों को बर्बाद कर दिया. अब सीबीआई में चल रहा संघर्ष देश के लिए सबसे ज्यादा खतरनाक है. उन्होंने कहा कि इससे देश की कई संस्थाओं पर प्रश्नचिन्ह लग रहा है और जानबूझकर इतना कनफ्यूजन पैदा कर दिया गया है कि आम जनता को पता नहीं चल पा रहा है कि कौन किसको बचा रहा है.

अखिलेश ने हालांकि यह भी कहा कि सीबीआई के झगड़े से उनकी भूख बढ़ गई है और वे आजकल दो रोटी ज्यादा खा रहे हैं. उन्होंने कहा कि किसी भी सरकार में किसी शीर्ष संस्था से खिलवाड़ नहीं होना चाहिए, चाहे वह सीबीआई ही क्यों न हो. अखिलेश ने चुटकी लेते हुए कहा कि इससे पहले भी सरकारों ने सीबीआई के जरिए लोगों को डराया. हमें भी डराया गया. हमें सुप्रीम कोर्ट पर भरोसा है. हम भी सीबीआई क्लब में थे, पर हम साफ-सुथरे निकल गए. हमसे कहा गया कि नदी किनारे मत दिखना, हम तो गए ही नहीं नदी किनारे.

अखिलेश का शिवपाल पर हमला, ‘हमारी लड़ाई सिर्फ भाजपा से, उसकी किसी टीम से नहीं’

भाजपा सरकार ने किया सीबीआई का गलत इस्‍तेमाल
सपा प्रमुख ने पार्टी मुख्यालय में समाजवादी छात्रसभा की बैठक के बाद पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे. अखिलेश ने भाजपा को निशाने पर लेते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने सीबीआई का गलत इस्तेमाल किया है. राफेल डील पर अगर सवाल खड़े हो रहे हैं तो सरकार को जनता के सामने आकर जवाब देना चाहिए. हम जेपीसी जांच की मांग करते हैं. सरकार जेपीसी बनाकर जनता को जवाब दे. उन्होंने कहा कि सुनने में तो यह भी आ रहा है कि राफेल विमान पहले दो पायलट उड़ाने वाले थे, अब एक उड़ाएगा. इसके बारे में सरकार को जवाब देना होगा.

राजनाथ सिंह ने किया दावा, ‘पैसे लेकर भागने वालों को वापस भारत लाएंगे’

शिवपाल पर भी साधा निशाना
अपने चाचा और सेक्युलर मोर्चा अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव की सदस्यता समाप्ति के सवाल पर अखिलेश ने कहा कि हम किसी के साथ अन्याय नहीं होने देंगे. शिवपाल जी अपना काम कर रहे हैं और हम अपने काम में लगे हैं. वह तो समाजवादी पार्टी के विधायक हैं. इटावा के जसवंतनगर की सीट पर तो समाजवादी पार्टी का कब्जा है. गठबंधन पर अखिलेश ने कहा कि लोकसभा चुनाव के लिए सपा-बसपा गठबंधन का ऐलान तब होगा, जब किसी को इसकी उम्मीद नहीं रहेगी.