लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने देश की प्रमुख जांच एजेंसी सीबीआई में इन दिनों जारी उठापटक को बेहद चिंताजनक बताते हुए आज कहा कि इस संकट के लिये अफसरों से कहीं ज्यादा केन्द्र सरकार ज़िम्मेदार है.

मायावती ने यहां एक बयान में कहा कि सीबीआई में विभिन्न प्रकार के हस्तक्षेपों के चलते पहले भी काफी कुछ गलत होता रहा है. अब इस एजेंसी में जो भी उठापटक हो रही है, वह देश के लिये बहुत बड़ी चिन्ता की बात है. उन्होंने कहा कि सीबीआई में इस उठापटक के लिये अफसरों से कहीं ज्यादा केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार ज़िम्मेदार है, क्योंकि उसकी द्वेषपूर्ण, जातिवादी तथा साम्प्रदायिकता पर आधारित नीतियों और कार्यों ने सीबीआई ही नहीं, बल्कि हर उच्च सरकारी, संवैधानिक तथा स्वायत्त संस्था को संकट और तनाव में डाल रखा है. बसपा प्रमुख ने कहा कि ताजा घटनाक्रम से जनता में अनेक भ्रान्तियाँ पैदा हो रही हैं और इस बहुचर्चित विषय पर मीडिया में लगातार हो रही बहस से लोगों का सीबीआई पर से भरोसा काफी डगमगाया लगता है.

CBI Vs CBI: सरकार ने विवादों से झाड़ा पल्ला, जेटली बोले-कौन अफसर सही, कौन गलत हमें नहीं पता

न्यायालय वर्तमान संकट का विस्तार से संज्ञान ले
सीबीआई में पिछले कई दिनों से जारी तनातनी के बाद केन्द्र सरकार द्वारा की गयी कार्रवाई का जिक्र करते हुए मायावती ने कहा कि अब यह मामला स्वाभाविक तौर पर उच्चतम न्यायालय के समक्ष चला गया है, जो कि अच्छी बात है. उन्होंने कहा कि इस जांच एजेंसी पर लोगों का भरोसा बहाल करने के लिये जरूरी है कि न्यायालय वर्तमान संकट का विस्तार से तथा अति-प्रभावी रूप से संज्ञान ले.