रायपुर: छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में पदस्थ केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के जवान ने वीडियो बनाकर उत्तर प्रदेश में अपने चाचा पर जमीन हड़पने और भाइयों पर हमला करने का आरोप लगाया है तथा न्याय नहीं होने पर ‘पान सिंह तोमर’ बनने की धमकी दी है. सोशल मीडिया में इन दिनों एक सिपाही का वीडियो वायरल हो रहा है. तीन मिनट के इस वीडियो में वह खुद को छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में तैनात सीआरपीएफ की 74 वीं बटालियन का जवान प्रमोद कुमार बता रहा है और अपने चाचा पर 50 वर्ष से खेती कर रहे जमीन को हड़पने का आरोप लगा रहा है. सिपाही का कहना है कि उनके परिवार के सदस्य उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले के निवासी हैं. गांव में उनके चाचा भी रहते हैं, जिन्होंने उनकी जमीन पर कब्जा कर लिया है.

प्रमोद कुमार ने कहा है कि इस संबंध में उन्होंने अपनी पत्नी को तहसील में शिकायत करने के लिए कहा था. उन्होंने स्वयं जब अपने कमांडेंट को इस घटना की जानकारी दी तब उन्होंने (कमांडेंट ने) हाथरस जिले के पुलिस अधीक्षक और कलेक्टर को पत्र भी लिखा था. लेकिन तीन माह बीत जाने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई है. सिपाही का कहना है कि कुछ समय पहले उसके चाचा और उसके लोगों ने उनके :सिपाही के: भाइयों और भाभी के साथ मारपीट की है. उनके एक भाई को मृत समझकर छोड़ा गया है और एक भाई के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली है. प्रमोद कुमार वीडियो में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री :योगी आदित्यनाथ: से इस मामले की जांच कराने गुहार लगा रहे हैं. वीडियो में प्रमोद कुमार यह भी कह रहे हैं कि वह देश के सिपाही हैं, जब वह अपने देश के लिए जान दे सकते हैं तब अपने भाइयों के लिए पान सिंह तोमर भी बन सकते हैं.

इधर सुकमा जिले के कलेक्टर चंदन कुमार ने बताया कि सोशल मीडिया में वीडियो के वायरल होने के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने उन्हें हाथरस के कलेक्टर से बात करने के लिए कहा है. हाथरस जिले के कलेक्टर ने उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया है. चंदन कुमार ने बताया है कि उनकी इस संबंध में हाथरस जिले के कलेक्टर से बात हुई है तथा उन्होंने इस मामले में उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया है. हाथरस जिले के कलेक्टर ने कहा है कि वह मामले की जांच करेंगे जिससे जवान के साथ अन्याय न हो. छत्तीसगढ़ के पुलिस महानिदेशक ने बताया कि इस संबंध में उनकी सीआरपीएफ के वरिष्ठ अधिकारियों से बात हुई है. उन्होंने जवान की मदद करने का आश्वासन दिया है. मध्यप्रदेश के मुरैना क्षेत्र का निवासी पान सिंह तोमर सैनिक और एथलीट था. जमीन विवाद के चलते पान सिंह तोमर बाद में डाकू बन गया था और एक कार्रवाई में पुलिस ने उसे मार गिराया था. पान सिंह तोमर के जीवन पर निर्देशक तिग्मांशु धूलिया ने वर्ष 2012 में एक फिल्म बनाई थी.

(इनपुट भाषा)