लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस आलमबाग बसअड्डे का उद्घाटन किया. उन्होंने इस मौके पर परिवहन विभाग की सराहना करते हुए कहा कि पिछले एक वर्ष में विभाग ने काफी अच्छा काम किया है. इस मौके पर सीएम ने आलमबाग बस स्‍टैंड की तर्ज पर सूबे के 21 और बस स्‍टैंड का निर्माण पीपीडी मॉडल के जरिए कराने की घोषणा की.Also Read - UP Elections 2022: BJP ने पहली ही लिस्‍ट में दिखाया OBC मैनेजमेंट, विरोधियों के आरोपों का क्‍या हुआ?

Also Read - UP Elections 2022: राष्‍ट्रीय लोकदल ने जारी की 7 उम्‍मीदवारों की अपनी सूची

बता दें कि पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी पद्धति) के तहत करीब ढाई करोड़ की लागत से बने इस बस अड्डे में एसी वेटिंग हॉल, निशुल्क ठंडा पेयजल, आरामदायक बेंच, सबवे से प्लेटफार्म रूट, फूडकोर्ट, एटीएम, बैंक, ऑटोमैटिक एनाउसमेंट जैसी सुविधाएं उपलब्ध हैं. उद्घाटन के अवसर पर सीएम दौरान योगी आदित्यनाथ ने कहा कि परिवहन निगम ने पिछले एक साल में बेहतर काम किया है. इसके चलते यह विभाग फायदे में है. Also Read - UP Assembly Election 2022: सपा उम्‍मीदवार नाहिद हसन गैंगस्‍टर एक्‍ट में अरेस्‍ट, भेजे गए जेल

कुंभ 2019 के लिए परिवहन निगम की ओर से विशेष सुविधाएं देने काऐलान
इस दौरान योगी ने कुंभ 2019 के लिए परिवहन निगम की ओर से विशेष सुविधाएं देने का भी ऐलान किया. इस दौरान सोमवार को समाजवादी कार्यकर्ताओं के हंगामे को देखते हुए पूरे टर्मिनल के चप्पे-चप्पे पर अधिकारियों और सुरक्षाकर्मियों की नजर रही. मंच पर परिवहन विभाग के एडिशनल कमिश्नर (प्रशासन) आशुतोष मोहन अग्निहोत्री एवं क्षेत्रीय प्रबंधक पल्लव बोस और मंच के पीछे की निगरानी मुख्य प्रधान प्रबंधक (संचालन) एचएस गाबा को सौंपी गई थी.

आलमबाग बस अड्डे की तर्ज पर प्रदेश में 21 और बस अड्डों का निर्माण होगा
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आलमबाग बस अड्डे की तर्ज पर प्रदेश में 21 और बस अड्डों का निर्माण किया जाएगा. इसमें कौशांबी (गाजियाबाद), कानपुर (झकरकटी),वाराणसी कैंट, सिविल लाइंस इलाहाबाद, विभूति खंड (गोमती नगर), बरेली (सेटेलाइट), सोहराब गेट मेरठ, ट्रांसपोर्ट नगर आगरा, अलीगढ़, मथुरा, रायबरेली, फैजाबाद, गोरखपुर आदि बस स्टेशनों का पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी पद्धति) से विकास किया जाएगा.