Chitrakoot News 30 December 2020: राज्य के चित्रकूट जिले में एक हत्याकांड से हड़कंप मचा हुआ है. जिले के पहाड़ी क्षेत्र में कथित तौर पर पुरानी रंजिश को लेकर कांग्रेस के पूर्व जिला उपाध्यक्ष और उनके भतीजे की गोली मारकर हत्या कर दी गयी. मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में संबंधित थाना प्रभारी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है.Also Read - UP Police Exam Answer Key: पुलिस बोर्ड जल्द ही जारी करेगी SI परीक्षा की आंसर की, ऐसे करें चेक

पुलिस अधीक्षक (एसपी) अंकित मित्तल ने बुधवार को ‘भाषा’ को बताया कि पहाड़ी थाना क्षेत्र के प्रसिद्धपुर गांव में मंगलवार की रात करीब साढ़े दस बजे ‘पुरानी रंजिश’ में कहासुनी के बाद कांग्रेस के पूर्व जिला उपाध्यक्ष अशोक पटेल (55) और उनके भतीजे शुभम उर्फ बच्चा (28) की गोली मारकर हत्या कर दी गयी. हत्या का आरोप उनके पड़ोसी कमलेश रैकवार पर लगा है. उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस की कई टीमें लगातार दबिश दे रही हैं. Also Read - UP Police ASI SI Exam 2021: एसआई, एएसआई भर्ती परीक्षा कल से हो शुरू, परीक्षा केंद्र पर इन नियमों का पालन करना अनिवार्य

उन्होंने बताया कि दोहरी हत्या से गुस्साए मृतकों के परिजनों ने हत्यारोपी के घर में आग लगाकर उसके परिजनों को जिंदा फूंकने की कोशिश की, लेकिन मौके पर पहुंची पुलिस ने उसके चारों परिजनों को घर से बाहर निकालकर सुरक्षित बचा लिया है. Also Read - राजस्थान की महिला कांस्टेबल से यूपी में गैंगरेप, एक निलंबित DSP और पूर्व सरपंच पर आरोप

मित्तल ने बताया कि मामले में प्रथमदृष्टया लापरवाही बतरने के आरोप में पहाड़ी थाना के प्रभारी निरीक्षक (एसएचओ) श्रवण कुमार सिंह को बुधवार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है.

पुलिस अधीक्षक ने बताया, ‘‘अशोक और आरोपी के बीच किसी मामले को लेकर ‘पुरानी रंजिश’ थी और इसी को लेकर मंगलवार की रात करीब साढ़े दस बजे आरोपी कमलेश कुमार कांग्रेस के पूर्व जिला उपाध्यक्ष अशोक पटेल के घर पहुंच गया था और कहासुनी के बाद उन्हें गोली मार दी. गोली की आवाज सुनकर उनका भतीजा शुभम उर्फ बच्चा वहां पहुंचा तो उसे भी गोली मार दी. गोली लगने से दोनों चाचा-भतीजे की मौके पर ही मौत हो गयी.’’ मित्तल ने बताया कि गांव में तनाव को देखते हुए कई थानों का पुलिस बल तैनात किया गया है और स्थिति पर कड़ी नजर रखी जा रही है. उन्होंने बताया कि पुलिस ने दोनों शव कब्जे में ले लिए हैं और घटना की जांच की जा रही है.

(इनपुट भाषा)