लखनऊ : केजीएमयू के ट्रामा सेंटर कर्मचारियों की हड़ताल के चलते मरीजों को हुई परेशानी और मौत मामले में उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने विश्वविद्यालय प्रबंधन से पूरे मामले की विस्तृत रिपोर्ट मांगी है. गौरतलब है कि केजीएमयू छात्रों और कर्मचारियों के बीच बवाल के बाद गुरूवार को केजीएमयू कर्मचारियों ने गुरूवार को दोषी छात्रों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर ट्रामा सेंटर का काम काज ठप करा दिया था जिसके चलते तीन मरीजों की मौत हो गई थी और हजारों मरीजों की जान पर बन आई थी. Also Read - भाजपा सरकार की न तो नीतियां सही हैं, नीयत, योगी राज में विकास का पहिया थम गया है : अखिलेश

Also Read - बिहार: CM योगी बोले- PM मोदी ने राम मंदिर की नींव रखी, राहुल गांधी पाकिस्तान की तारीफ़ करते हैं

कर्मचारियों के कार्य बहिष्कार के चलते KGMU ट्रामा सेंटर में एक बच्ची समेत तीन की मौत Also Read - बिहार में सीएम योगी ने कहा- JNU में अब 'भारत तेरे टुकड़े होंगे' के नारे नहीं लग सकते हैं

केजीएमयू वीसी पर लापरवाही का आरोप

सूत्रों के मुताबिक सीएम कार्यालय से हड़ताल की विस्तृत रिपोर्ट मांगे जाने को लेकर अब केजीएमयू में हड़कंप मच गया है. आरोप है कि केजीएमयू में तीन मौतों के गुनाहगारों को बचाने में चिकित्सा शिक्षा विभाग भी जुटा हुआ है. हालांकि केजीएमयू प्रशासन ने कार्य बहिष्कार के चलते किसी भी मरीज की मौत से इंकार किया है. केजीएमयू वीसी डॉ. एम एल बी भट्ट, और अधीक्षक डॉ. बी के ओझा पर आरोप है कि छात्रों और कर्मचारियों के बीच विवाद मंगलवार से शुरू हुआ था. लेकिन इन्होने इसे गंभीरता से नहीं लिया और विवाद को  सुलझाने की कोई कोशिश नहीं की. वही इस विवाद को बढ़ने में उप चिकित्सा अधीक्षक डॉ हरदीप की भूमिका भी सवालों के घेरे में है. वीसी एमएलबी भट्ट और उप चिकित्सा अधीक्षक की छवि नियम विरुद्ध तैनाती को लेकर पहले ही विवादों में है. सीएम योगी ने कहा है कि इस मामले में जो भी दोषी होंगे उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. वहीँ पूर्व मुख्मंत्री अखिलेश यादव ने गुरूवार को के जी एम यू और कानपुर के हैलेट अस्पताल में हुई मौतों को लेकर दुःख व्यक्त किया है. सपा मुखिया ने कानपुर हैलट अस्पताल की घटना को लेकर वर्तमान योगी सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि ये घटनाएं बेहद दुखद है. यूपी में स्वास्थ्य सेवाएं बदहाल हैं. एम्बुलेंस से लेकर इलाज तक सभी सेवाएं बदहाल हैं.

UP: कानपुर के हैलट अस्पताल में आईसीयू का एसी फेल होने से पांच मरीजों की मौत