लखनऊ. उत्तर प्रदेश के संतकबीरनगर में सांसद और विधायक के बीच हुए जूताकांड पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरूवार को कहा कि इस मामले में दोषी लोगों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी, क्योंकि भाजपा एक अनुशासित पार्टी है. इस प्रकार के कृत्य बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे. इससे पहले, मेंहदावल विधायक राकेश सिंह बघेल ने सांसद शरद त्रिपाठी से मारपीट के मामले में कार्रवाई की मांग लेकर जिलाधिकारी कार्यालय के सामने धरना भी दिया था. सुबह प्रदेश अध्यक्ष और मुख्यमंत्री से बातचीत के बाद विधायक ने धरना समाप्त कर दिया था.

मौके पर कई थानों की पुलिस फोर्स बुला ली गई थी. भाजपा जिलाध्यक्ष सेतवान राय ने घटना की निंदा की है. जिलाधिकारी रवीश कुमार गुप्ता ने फिलहाल इस मामले में अपनी प्रतिक्रिया देने से मना किया है. विधायक धरना खत्म कर लखनऊ रवाना हो गए. विधायक समर्थकों को प्रशासन ने मेंहदावल क्षेत्र के मेड़रापार गांव तक पहुंचाया.

BJP सांसद से जूतों से पिटे MLA ने घेरा कलेक्ट्रेट, गिरफ्तारी की मांग, हाईकमान ने कहा- घटना दुर्भाग्यपूर्ण

गौरतलब है कि शिलापट में नाम न होने को लेकर हुए विवाद में सांसद शरद त्रिपाठी ने विधायक राकेश सिंह बघेल को जूते से पीट दिया था. इसके बाद मामले ने तूल पकड़ लिया था. प्रदेश अध्यक्ष डा. महेन्द्र नाथ पांडेय ने इस कृत्य की निंदा करते हुए सांसद विधायक को लखनऊ तलब किया है. इससे पहले बीते बुधवार की रात सांसद और विधायक के बीच विवाद की खबर का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद भाजपा आलाकमान ने घटना को शर्मनाक बताते हुए दोनों जनप्रतिनिधियों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही थी.

(इनपुट – एजेंसी)