लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार सुबह पुलिस लाइंस लखनऊ का औचक निरीक्षण किया. सीएम के वहां पहुंचते ही पुलिस के अधिकारियों में हड़कंप मच गया. सीएम जब पुलिस लाइंस पहुंचे तो वहां पर नए रंगरूटों की ट्रेनिंग भी चल रही थी. इसके बाद सीएम पुलिस लाइन में पुलिसकर्मियों के आवास व अन्य सुविधाओं को देखने पहुंचे. वहां की बदहाल स्थिति देख सीएम भी चौंक गए. उन्‍होंने फौरन व्‍यवस्‍था को दुरूस्‍त करने के निर्देश दिए हैं.

 

शुक्रवार सुबह सीएम योगी ने लखनऊ पुलिस लाइंस का निरीक्षण किया तो वहां पर गंदगी का अंबार लगा हुआ था. पुलिस लाइंस में सही तरीके से साफ-सफाई भी नहीं थी. इस पर सीएम योगी ने वहां मौजूद अधिकारियों से पूछा कि सही से सफाई क्‍यों नहीं होती है? साफ-सफाई में लापरवाही नहीं होनी चाहिए. इस दौरान सीएम ने कहा कि गर्मियों में भी ऐसे ही पुलिसकर्मी यहां रहते हैं. इस पर वहां मौजूद पुलिसकर्मी अपनी समस्याएं बताने लगे. पुलिस कर्मियों ने कहा कि साहब गर्मी में कूलर भी नहीं है. पुलिस लाइन के आवास में 200 लोगों के रहने की व्यवस्था है, लेकिन सुविधाएं नाकाफी हैं.

इलाहाबाद जंक्शन का होगा अपग्रेडेशन, 20 को निरस्त रहेगी संगम एक्सप्रेस

जवानों के रूकने की समस्‍या होगी दूर: डीजीपी
इस दौरान यूपी डीजीपी ने बताया कि लखनऊ पुलिस की सबसे बड़ी समस्या ये है कि ये यूपी की राजधानी है. यहां अक्सर वीआईपी मूवमेंट के कारण बाहर से आने वाले फोर्स को ठहराने की व्यवस्था नहीं है. अब नए बैरक बन रहे हैं. जिसमें 200 जवानों के रुकने की व्यवस्था होगी. डीजीपी ने कहा कि आने वाले समय में ये कोशिश है कि आवासों को मल्टी स्ट्रोरी बनाया जाए, इस पर सीएम योगी ने भी हां कर दी है.